लोंगोवाल (संगरूर), जेएनएन। यहां एक दर्दनाक हादसा हो गया। बच्‍चों को ले जा रहे एक प्राइवेट स्कूल के वैन में आग लग गई। इससे वैन में सवार चार बच्‍चों की जिंदा जलने से मौत हो गई। तीन बच्‍चे गंभीर रूप से झुलस गए। झुलस गए बच्‍चों को चंडीगढ़ पीजीआइ रेफर किया गया है। स्‍कूल वैन छुट्टी के बाद बच्‍चों को घर छोड़ने जा रही थी। हादसे के बाद लोगों का गुस्‍सा फूट पड़ा और उन्‍होंने जमकर हंगामा किया। गुस्‍साए लोगों ने मुख्‍य सड़क पर जाम लगा दिया है। वैन में आठ बच्‍चे सवार थे।

मुख्‍यमंत्री कैप्‍टन अमरिंदर सिंह ने घटना की मजिस्ट्रेट जांच के आदेश दिए हैं। बताया जाता है कि वैन में आग लगने के बाद बच्चों की बचाने की बजाय ड्राइवर मौके से भाग गयार। प्रिंसिपल का प्रिंसपिल भी फरार है। दूसरी ओर बताया जाता है कि घटना के बाद घबराया स्‍कूल संचालक बैचेनी की शिकायत करते हुए अस्‍पताल मे भर्ती हो गया। हादसे की जानकारी मिलने के बाद संगरूर से सांसद और आम आदमी पार्टी के पंजाब प्रधान भगवंत मान लोंगोवाल गांव पहुंचे।  पंजाब के कैबिनेट मंत्री विजयइंद्र सिंगला घटनास्थल पर पहुंचे और लोगों से बातचीत की।

घटनास्‍थल पर लोगों से बात करते कैबिनेट मंत्री विजय इंद्र सिंगला।

जानकारी के अनुसार, लोंगोवाल में चल रहे एक निजी स्‍कूल में काफी संख्‍या में बच्‍चे पढ़ते हैं। बच्‍चों को स्‍कूल वैन में स्‍कूल लाया और घर छोड़ा जाता है। रोज की तरह शनिवार सुबह बच्‍चे स्‍कूल की वैन में गए और छुट्टी के बाद उनको वैन से घर छोड़ा जा रहा था।

हादसे के विरोध में सड़क पर जाम लगाते हुए लोग।

जानकारी के अनुसार, लोंगोवाल कस्बे के सिद्धू रोड पर स्थित सिमरन पब्लिक स्कूल के पहली व दूसरी कक्षा के बच्चों को वैन स्कूल से घर छोड़ने जा रही थी। रास्‍ते में इस मारुति वैन में धमाका होने के बाद आग लग गई। चंद पलों में ही आग ने वैन को पूरी तरह अपनी चपेट में ले लिया। वैन में 12 स्कूली बच्चे सवार थे।

हादसे की शिकार हुई स्‍कूल वैन।

सड़क के साथ लगते खेतों में मौजदू मजदूरों व ग्रामीणों ने तुरंत आग में घिरी स्कूल वैन में से चालक व बच्चों को बाहर निकालना शुरू किया। लोगों ने मिट्टी डालकर वैन में लगी आग पर काबू पाने का प्रयास किया। आग इतनी भड़क गई कि चार बच्‍चे वैन में ही फंस गए और उनको नहीं निकाला जा सका। ये चार बच्‍चे कार के भीतर ही जलकर राख हो गए। तीन बच्‍चों को लोंगोवाल के एक निजी अस्पताल में भर्ती करवाया। उनकी गंभीर हालत होने के कारण बच्‍चों को चंडीगढ़ पीजीआइ रेफर कर दिया गया।

हादसे के बाद पहुंचे एसजीपीसी के प्रधान गोबिंद सिंह लोंगोवाल।

परिजनों ने घेरा स्कूल, एसजीपीसी प्रधान मौके पर पहुंचे

स्कूल व अस्पताल में बच्चों के परिजन जमा हो गए हैं। हादसे की जानकारी मिलजे ही एसजीपीसी प्रधान गोबिंद सिंह लोंगोवाल भी मौके पर पहुंचे। एसएचओ बलवंत सिंह ने बताया कि मृतक बच्चों की पहचान नवजोत कौर, सिमरनजीत कौर पुत्री कुलवंत सिंह, राध्या रानी व कमलप्रीत कौर के तौर पर हुई है।

हादसे के बाद विलाप करता एक व्‍यक्ति।

एसजीपीसी प्रधान गोबिंद सिंह लोंगोवाल ने सरकार व प्रशासन पर स्कूली वाहनों की उचित तरीके से जांच न करने का आरोप लगाया। दूसरी ओर सुनाम के डीएसपी सुखविंदरपाल सिंह भी मौके पर पहुंच गए। उन्‍होंने स्कूल का रिकार्ड जब्त कर लिया। स्कूल प्रिंसिपल व स्कूल वैन चालक मौके से फरार हाे गए। पुलिस ने मौके पर पहुंचकर स्कूल के कई कर्मचारियों को हिरासत में ले लिया है और उनसे पूछताछ की जा रही है।

हादसे के बाद लोगों का गुस्‍सा फूट पड़ा। लोगों ने स्‍कूल प्रबंधन बच्‍चाें की सुरक्षा से खिलवाड़ करने का आरोप लगाया। उन्‍होंने प्रशासन पर भी स्‍कूल बसों की खामियों की अनदेखी करने आराेप लगाया। गुस्‍साए लोगों ने प्रशासन और स्‍कूल प्रबंधन के खिलाफ जमकर नारेबाजी की। उन्‍होंने मुख्‍य सड़क पर जाम लगा दिया। लोग स्‍कूल के प्रबंधकों को गिरफ्तार करने की मांग कर रहे हैं।

 

Posted By: Sunil Kumar Jha

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस

ਪੰਜਾਬੀ ਵਿਚ ਖ਼ਬਰਾਂ ਪੜ੍ਹਨ ਲਈ ਇੱਥੇ ਕਲਿੱਕ ਕਰੋ!