जागरण संवाददाता, संगरूर :

युवाओं में विदेश जाने की चाहत इस कदर सिर चढ़ कर बोल रही है कि इस के लिए परिवार जहां जाली ट्रैवल एजेंटों के हाथों ठगी का शिकार हो रहे हैं, वहीं कई परिवारों के युवकों को अपनी जिदगी से हाथ धोना पड़ रहा है। ऐसी ही एक घटना संगरूर के नजदीकी गांव घनौरी कलां के गरीब परिवार के साथ घटी, जिनकी बेटी ने विदेश जाने की चाहत पूरी न होती देख बुधवार को धूरी-शेरपुर रोड पर स्थित ओवरब्रिज से कूदकर आत्महत्या कर ली।

परिवार बेशक युवती द्वारा आत्महत्या करने के किसी भी प्रकार के कारण से अज्ञानता जाहिर कर रहा है, लेकिन ग्रामीणों में चर्चा है कि आर्य कॉलेज धूरी में बीए की पढ़ाई कर रही युवती आइलेट्स कर रही थी, ताकि वह विदेश जा सकें, लेकिन परिवार की कमजोर आर्थिक स्थिति के चलते यह सपना पूरा नहीं हो रहा था। इसी परेशानी के चलते उसने आत्महत्या जैसा जघन्य कदम उठाया।

पुलिस ने वीरवार को पोस्टमार्टम के बाद शव परिजनों के सौंप दिया। वहीं परिजनों के बयान दर्ज कर लिए। जांच करने में जुटी है कि आखिर युवती ने आत्महत्या का कदम क्यूं उठाया। पुलिस ने लड़की का मोबाइल फोन इत्यादि अपने कब्जे में ले लिया।

सिविल अस्पताल संगरूर में शव पोस्टमार्टम करवाने के लिए आए मृतका के पिता बुग्गर सिंह ने कहा कि अर्शदीप ने यह कदम क्यों उठाया इसका उन्हें कुछ नहीं पता। वह विदेश जाना चाहती थी। परिवार उसे पढ़ाने में पूरी मदद कर रहा था। वह परिवार का आखिरी सहारा थी। उसकी मौैत के बाद परिवार बिखर गया है।

एएसआइ गुलजार सिंह ने कहा कि शव का पोस्टमार्टम परिजनों के हवाले कर दिया गया है।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस

ਪੰਜਾਬੀ ਵਿਚ ਖ਼ਬਰਾਂ ਪੜ੍ਹਨ ਲਈ ਇੱਥੇ ਕਲਿੱਕ ਕਰੋ!