संवाद सूत्र, संगरूर

ब्लाक मूनक के गांव ढींडसा में एक व्यक्ति ने गांव के सरपंच पर उससे मारपीट करने का आरोप लगाया है। सिविल अस्पताल संगरूर में भर्ती उक्त व्यक्ति के पुलिस ने बयान दर्ज कर अगली कार्रवाई आरंभ कर दी है।

कृष्ण सिंह पुत्र बलदेव सिंह निवासी ढींडसा ने पुलिस को बयान दर्ज करवाए कि सोमवार सुबह करीब साढ़े ग्यारह बजे गांव ढींडसा के सरपंच निर्भर सिंह ने उसे किसी मामले में बातचीत के लिए अपने पास बुलाया। सरपंच के भतीजे जगसीर सिंह व ज्योति पहले से मौजूद थे। तीनों ने मिलकर उसकी बेरहमी से पिटाई की। उसे जातिसूचक शब्द भी बोलकर बेइज्जत किया। वह किसी तरह से अपनी जान बचाकर वहां से निकला। परिवार वालों ने उसे गंभीर हालत में अस्पताल में भर्ती करवाया, जहां उसकी हालत गंभीर होने से कारण उसे सिविल अस्पताल संगरूर भेज दिया गया। सिविल अस्पताल संगरूर में बयान दर्ज एएसआइ मिट्ठू राम ने कहा कि उक्त व्यक्ति के बयान दर्ज कर लिए हैं, जिसके आधार पर अगली कार्रवाई आरंभ की जाएगी।

उन्होंने बताया कि बीस मई 2022 को गांव ढींडसा के मक्खन सिंह पुत्र जगदेव सिंह निवासी ढींडसा ने शिकायत दर्ज करवाई कि वह मजदूरी करने का काम करता है। 17 मई रात को उसे कृष्ण कुमार अपनी मोटरसाइकिल पर बिठाकर शराब पीने के लिए गांव डुडियां ले गया। डुडियां ठेके पर जब पहुंचे तो वहां पर चमकौर सिंह निवासी ढींडसा भी आ गया व तीनों ने शराब पी। कुछ देर में कुलजिदर सिंह भी आ गया व शराब पीने लगे। मक्खन सिंह व कृष्ण सिंह मोटरसाइकिल पर वापस गांव आ रहे थे। रास्ते में पाल सिंह निवासी ढींडसा की मोटर पर बैठकर फिर शराब पीने लगे। इस दौरान चमकौर सिंह ने उसे थप्पड़ मार दिया। इसके बाद सभी ने उसे मिलकर बुरी तरह से पीटा व उसे वहीं पर छोड़कर फरार हो गए। मक्खन सिंह रात भर मोटर पर ही पड़ा रहा। पिता उसे अगली सुबह मोटर पर से उठाकर घर ले आए व फिर उसकी हालत गंभीर होती देख अस्पताल मूनक में भर्ती करवाया जहां से उसे संगरूर रेफऱ कर दिया। पुलिस ने मक्खन सिंह के बयानों के आधार पर चमकौर सिंह पुत्र जीत सिंह, कुलजिदर सिंह पुत्र प्यारा सिंह, कृष्ण सिंह पुत्र बलदेव सिंह निवासी ढींडसा के खिलाफ विभिन्न धाराओं के तहत मामला दर्ज कर लिया। मामले में पुलिस ने चमकौर सिंह व कुलजिदर सिंह को गिरफ्तार कर लिया।

एएसआइ मिट्ठू राम ने बताया कि कृष्ण सिंह ने अब सरपंच निर्भर सिंह व उसके दो भतीजों पर उससे मारपीट करने के आरोप लगाए हैं, जिसके तहत कृष्ण सिंह के बयान दर्ज कर लिए गए हैं, जिसके आधार पर अगली कार्रवाई की जाएगी। मक्खन सिंह की हालत गंभीर बनी हुई है।

------------------

बसपा ने किया मारपीट का विरोध उधर, कृष्ण सिंह के हक में उतरे बहुजन समाज पार्टी के जिला कार्यकर्ता चमकौर सिंह, वकील जगतार सिंह ने कहा कि कृष्ण सिंह के साथ गांव के सरपंच ने अपने रिश्तेदारों के साथ मिलकर मारपीट की। अगर कृष्ण सिंह ने कोई गलती भी की थी तो सरपंच को कोई अधिकार नहीं उससे मारपीट करे। सरपंच ने कृष्ण सिंह को जाति सूचक शब्द भी बोले हैं। इसलिए सरपंच व उसके दोनों भतीजों पर एससीएसटी एक्ट के तहत मामला दर्ज किया जाना चाहिए।

Edited By: Jagran