जागरण संवाददाता, संगरूर

पेप्सीको इंडिया हो¨ल्डग वर्कर यूनियन की जनरल बाड़ी की बैठक कमेटी के मुख्य गेट पर यूनियन के प्रधान सुखचैन ¨सह की प्रधानगी अधीन हुई।बैठक में जिला एटक के महासचिव सुखदेव ¨सह ने कहा कि पेप्सीको मैनेजमेंट ने श्रमिकों से किए गए समझौते में स्टे आर्डर वापस लेने का भरोसा दिलाया था कि कच्चे मुलाजिमों को बिना ब्रेक से रेगुलर काम पर लिया जाएगा। परंतु अढ़ाई वर्ष का समय बीच जाने के बावजूद मैनेजमेंट ने अपना वादा पूरा नहीं किया। केंद्र सरकार ने देश का भगवाकरण करके आम कच्चे मुलाजिम के लिए रोजगार का राह बंद कर दिया है व ठेकेदारी सिस्टम को बढ़ावा दिया जा रहा है। भारतीय किसान यूनियन के नेता जगतार ¨सह व मनजीत ¨सह ने कहा कि सरकार लोगों की आवाज को दबाने पर लगी हुई है व लोगों के लिए काम कर रहे वकील, लेखक, बुद्धिजीवियों को गिरफ्तार किया जा रहा है। यूनियन के महासचिव कृष्ण ¨सह भड़ो व प्रधान सुखचैन ¨सह ने मैनेजमेंट को सख्त शब्दों में चेतावनी देते हुए कहा कि वर्करों की मांगों व मसलों को तुरंत हल किया जाए व स्टे वापस ली जाए, अन्यथा मैनेजमेंट के खिलाफ कड़ा संघर्ष आरंभ किया जाएगा। उन्होंने कच्चे मुलाजिमों को पक्का करने, कंपनी की आमदन बढने पर लेबर की तनख्वाह में वृद्धि करने की मांग रखी। इस मौके पर दर्शन ¨सह खजांची, जोरा ¨सह, संदीप ¨सह, पुनीत त्रिवेदी, सुखदीप ¨सह प्रेस सचिव आदि उपस्थित थे।

Posted By: Jagran