जागरण संवाददाता, संगरूर :

शनिवार को गांव घराचों में उस समय स्थिति तनावपूर्ण हो गई, जब पंचायती जमीन में से आरक्षित हिस्से की जमीन ठेके पर लेने वाले व्यक्तियों ने जमीन में ट्रैक्टर की मदद से जुताई करने की कोशिश की। इसके बाद पिछले डेढ़ माह से जमीन प्राप्ति संघर्ष कमेटी की अगुआई में डमी बोली रद करवाने को लेकर जमीन पर धरना लगाए बैठे अनुसूचित वर्ग के लोगों ने कब्जे की कोशिश का कड़ा विरोध करते हुए पंजाब सरकार व प्रशासन के खिलाफ जमकर नारेबाजी की।

माहौल बिगड़ा देख मौके पर भारी पुलिस बल भी पहुंच गया। पुलिस प्रशासन ने जमीन की जुताई करने के लिए इस्तेमाल किया जा रहा ट्रैक्टर अपने कब्जे में ले लिया तथा जमीन पर पुलिस बल तैनात कर दिया। जमीन प्राप्ति संघर्ष कमेटी के जोनल वित सचिव बिकर सिंह हथोआ व गुरचरन सिंह घराचों ने बताया कि गांव घराचों की दलित हिस्से की जमीन की डम्मी बोली रद्द करवाने हेतु गत लंबे समय से संघर्ष चल रहा है, लेकिन प्रशासन सत्ताधारी पार्टी के कुछ सियासतदानों के इशारे पर दलितों से जमीन छीनकर गांव के धनाढ्य को देने की कोशिश कर रहा है, जिसके चलते शनिवार को गांव के धनाढ्यों ने ट्रैक्टर से डमी बोली देने वालों को नाजायज कब्जा करवाने की कोशिश की गई। परंतु दलितों ने इकट्ठा होकर उनके मंसूबो पर पानी फेर दिया। एसडीएम भवानीगढ़, डीएसपी सहित पुलिस फोर्स द्वारा ट्रैक्टर को अपने कब्जे में लेकर लोगों को शांत करवाया गया। उक्त कार्यकर्ताओं ने कहा कि वह गत पांच वर्षों से अपने हिस्से की जमीन में खेती कर परिवार पाल रहे हैं, लेकिन कोरोना की आड़ में सरकार उनसे जमीन छीनना चाहती है, जिसे किसी कीमत पर बर्दाश्त नहीं किया जाएगा। अगर डमी बोली रद न की व गलत बोली करने वाले अधिकारियों पर कार्रवाई न की तो संघर्ष तेज किया जाएगा। इस मौके चरणजीत कौर, जसपाल कौर, मिट्ठू सिंह, भान सिंह, रामा सिंह, मग्घर सिंह, गगन सिंह आदि ने कहा कि वह 24 जुलाई के कैबिनेट मंत्री विजयइंद्र सिगला की कोठी के घेराव करेंगे।

मौके पर पहुंचे डीएसपी (एच) संगरूर बूटा सिंह गिल से बात की गई तो उन्होंने दलित भाईचारे द्वारा पुलिस पर लगाए जा रहे आरोपों को सिरे से नकारते हुए कहा कि पुलिस मौके पर स्थिति को काबू करने के लिए पहुंची थी। किसी को जमीन पर कब्जा करने की इजाजत नही दी गई। कब्जा करने वालों को हटाया गया है, ताकि स्थिति को बिगड़ने से रोका जा सके।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस

ਪੰਜਾਬੀ ਵਿਚ ਖ਼ਬਰਾਂ ਪੜ੍ਹਨ ਲਈ ਇੱਥੇ ਕਲਿੱਕ ਕਰੋ!