जागरण संवाददाता, संगरूर

पंजाब यूटी मुलाजिम व पेंशनर्स सांझा फ्रंट की तरफ से अपनों मांगों की प्राप्ति के लिए मोरिडा में पक्का मोर्चा लगा दिया गया है। स्टेट पेंशनर्स कनफेडरेशन के प्रांतीय मुख्य प्रवक्ता राज कुमार अरोड़ा ने बताया कि कनफेडरेशन के प्रांतीय प्रधान कर्म सिंह धनोआ, महासचिव कुलवरण सिंह, वित्त सचिव प्रेम अग्रवाल के नेतृत्व में 18 अक्टूबर को कनफेडरेशन से संबंधित पंजाब के कोने-कोने में से समूचे पेंशनर्स इस पक्के मोर्चो में शामिल होंगे। यह पक्का मोर्चा जब तक मुलाजिमों व पेंशनर्स की मांगों की पूर्ति नहीं हो जाती तब तक जारी रहेगा।

अरोड़ा ने कहा कि पंजाब सरकार को साढ़े चार वर्ष से ऊपर का समय बीत गया है, परंतु इस सरकार की तरफ से मुलाजिमों व पेंशनर्स के मसले हल नहीं किए गए। पंजाब के मौजूदा मुख्यमंत्री चरणजीत सिंह चन्नी की तरफ से 21 अक्टूबर को ज्वाइंट फ्रंट के नेताओं से मांगों संबंधी बातचीत का आह्वान किया गया है। अरोड़ा ने कहा कि इस बैठक में यदि वेतन आयोग में मुलाजिमों व पेंशनर्स के हित्त अनुसार संशोधन, पेंशनर्स का वेतन आयोग का नोटिफिकेशन जारी करवाना, हर तरह के कच्चे मुलाजिमों को पक्का करवाना, 2004 के बाद भर्ती हुए मुलाजिमों पर पेंशन स्कीम लागू करवाने सहित अन्य मांगों को पूरा न किया गया तो 2022 की विधानसभा चुनाव में इस सरकार को सबक सिखाया जाएगा। रविदर सिंह गुड्डू, कंवलजीत सिंह, जनकराज जोशी, जसवीर सिंह खालसा, पवन कुमार शर्मा, डा. मनमोहन सिंह, किशोरी लाल गिरधारी लाल, सुरिन्दर सिंह सोढी, करनैल सिंह सेखों, रजिन्दर सिंह चंगाल, वेद प्रकाश सचदेवा आदि मौजूद थे।

Edited By: Jagran