संवाद सूत्र, सुनाम ऊधम सिंह वाला (संगरूर) : क्रांतिकारी पेंडू मजदूर यूनियन ने सरकार के शामलात जमीनों को कार्पोरेट घरानों के हाथ में जाने से बचाने के फैसले के खिलाफ संघर्ष को तेज करते हुए रविवार को रोष रैली निकाली, क्रांतिकारी पेंडू मजदूर यूनियन ने गांव खड़ियाल में रैली की गई। रैली को संबोधन करते हुए मजदूर यूनियन के जिला सचिव बलजीत सिंह, •िाला नेता जगसीर सिंह लाडी व मेघ सिंह ने कहा कि पंजाब सरकार गांवों की शामलाट जमीनों को कार्पोरेट घरानों को बेचने जा रही है। इससे साफ सिद्ध होता है कि पंजाब सरकार नहीं चाहती कि ग्रामीण दलित मजदूर व गरीब किसान अपनी एक मान-सम्मान की •िांदगी व्यतीत करने के रास्ते चलें। फरीदकोट में हुए भारी अत्याचार ने यह पूरी तरह साबित कर दिया है कि सरकार किसी को आवाज बुलंद करने नहीं देना चाहती। रैली दौरान फरीदकोट में हुए लाठीचार्ज व बरनाला में शिक्षा मंत्री विजयइंद्र सिगला द्वारा इस्तेमाल की गई भद्दी शब्दावली की सख्त शब्दों में निदा की। उन्होंने बताया कि यदि यह पंचायती जमीनें कॉर्पोरेट घरानों के हाथ चली गई तो गांवों में मजदूर व किसानों की सरेआम बर्बादी होगी। पंजाब विलेज कामन लैंड रेगुलेशन एक्ट 1964 के बने कानून में पंजाब सरकार द्वारा किए संशोधन के खिलाफ क्रांतिकारी ग्रामीण मजदूर यूनियन संगरूर, मानसा जिलों में पांच स्थानों पर किए जा रहे चक्का जाम में गांव खड़ियाल के ग्रामीण मजदूरों भी शामिल होंगे।

रैली में जरनैल सिंह, बबली सिंह, बिल्लू सिंह व मुख्तियार कौर शामिल थे।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस

ਪੰਜਾਬੀ ਵਿਚ ਖ਼ਬਰਾਂ ਪੜ੍ਹਨ ਲਈ ਇੱਥੇ ਕਲਿੱਕ ਕਰੋ!