संवाद सहयोगी, मूनक (संगरूर) :

मूनक अदालत में पेशी भुगतने आए हवालाती को शुक्रवार दोपहर उसके साथियों द्वारा पुलिस पर फायरिग करके छुड़ा ले जाने के मामले में पुलिस के हाथ दूसरे दिन भी खाली रहे। पुलिस की तीन टीमें डीएसपी मूनक बूटा सिंह की अगुआई में पंजाब सहित हरियाणा में हवालाती व उसके साथियों की तलाश करने में जुटी हुई है।

शनिवार को पुलिस ने वारदात में बरती गई ब्रेजा गाड़ी को टोहाना से बरामद कर लिया है। प्राथमिक जांच में सामने आया है कि वारदात को अंजाम देने के लिए इस्तेमाल की गई ब्रेजा गाड़ी मोगा से चोरी की गई है। साथ ही गाड़ी पर लगी नंबर प्लेट भी जाली है। डीएसपी बूटा सिंह ने कहा कि आरोपितों की तलाश की जा रही है। एसएचओ मूनक, एसएचओ खनौरी, एसएचओ लहरा की अगुआई में तीन टीमों गठित करके सर्च के लिए भेज दी गई है। जल्द ही आरोपितों को काबू कर लिया जाएगा।

उल्लेनखीय है कि शुक्रवार को बठिडा जेल में बंद हवालाती भगवान सिंह उर्फ गग्गी को एएसआइ बलदेव सिंह, हवलदार जसपाल सिंह, हवलदार चरणजीत सिंह मूनक अदालत में पेशी पर लेकर आए थे। जब पुलिस टीम सहित भगवान सिंह को गाड़ी में बैठाकर वापस ले जा रहे थे तो भगवान ने उल्टी की बहाना बनाकर गाडी रुकवा ली व गाड़ी से बाहर आ गया। मेन रोड पर ब्रेजा गाड़ी में सवार होकर आए 5-6 व्यक्तियों ने पुलिस पर फायरिग कर दी, जिसमें एक गोली चरणजीत की जांघ में लगी और वह घायल हो गया। भगवान के साथी उसके अपने साथ लेकर फरार हो गए। रास्ते में टोहाना के समीप गाड़ी छोड़कर मोटरसाइकिल पर आगे फरार हुए। भगवान सिंह पर जुलाई 2016 व अगस्त 2016 में लड़ाई झगड़े, मई 2017 को आ‌र्म्स एक्ट, जून 2017 को हत्या का मामला मानसा जिले में दर्ज है।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस

ਪੰਜਾਬੀ ਵਿਚ ਖ਼ਬਰਾਂ ਪੜ੍ਹਨ ਲਈ ਇੱਥੇ ਕਲਿੱਕ ਕਰੋ!