संवाद सूत्र, संगरूर

रोजगार की मांग को लेकर चार जनवरी से डीसी कार्यालय के समक्ष संघर्ष कर रहे बेरोजगार ईटीटी टीईटी पास अध्यापकों का पक्का धरना 129वें दिन जारी रहा परन्तु पंजाब सरकार उनकी मांगों पर गौर नहीं कर रही है।

यूनियन के प्रतिनिधि खुशप्रीत मानसा, प्रगट मानसा, गुरदीप सिंह, बेअंत सिंह व अरमिदर सिंह ने कहा कि पंजाब सरकार ने 2018 में ईटीटी टीईटी पास अध्यापकों की योग्यता 12वीं से ग्रेजुएशन कर दी थी, जिसे संघर्ष कर दोबारा 12वीं करवाया गया था, लेकिन 6 मार्च 2020 को सरकार द्वारा निकाली पोस्टों में नए बेरोजगार अध्यापकों पर शर्ते थोप दी गईं। इसे रद करवाने के लिए वह लंबे समय से संघर्ष कर रहे हैं। 17 मई को शिक्षा मंत्री विजयइंद्र सिगला की कोठी का घेराव किया जाएगा।

Edited By: Jagran