जेएनएन, धूरी (संगरूर) : रेलवे सुरक्षा फोर्स ने रेल विभाग की लाखों रुपये की चोरी हुई तार के मामले में पांच व्यक्तियों को रंगे हाथों काबू किया। इसके साथ ही रेलवे पुलिस ने चोरी का सामान खरीदने वाले व्यक्ति को भी लाखों की तार सहित दबोच लिया। आरपीएफ चौकी धूरी में पत्रकारों को जानकारी देते हुए आरपीएफ पटियाला के एसएचओ इंस्पेक्टर गुरसेवक ¨सह आहलुवालिया व आरपीएफ सीआईबी सैल के इंचार्ज सुखदेव राज ने बताया कि पिछले करीब एक माह से गिल-धूरी सेक्शन पर रेलवे के बिजलीकरण के चलते कार्य चल रहा है। इस दौरान अहमदगढ़ व गिल रेलवे स्टेशन मध्य लगातार ओएचई तारें चोरी होने की वारदातें हो रही थी, जिस कारण बिजलीकरण का कार्य प्रभावित हो रहा है। इस संबंधी सीनियर कमांडेंट कमलजीत बराड़ की तरफ से एक जांच टीम का गठन किया गया, जिसके तहत वह आरपीएफ चौकी धूरी के इंचार्ज नितेश सालवी, एसआई रणजीत ¨सह, नवीन कुमार व पुलिस पार्टी सहित नाकाबंदी दौरान जस्सोवाल व गिल रेलवे स्टेशन के मध्य तार चोर गिरोह के पांच सदस्यों राजेश, सन्नी व निक्कू निवासी ब¨ठडा, लोफर उर्फ केपी निवासी सर¨हद व मास्टर निवासी बरनाला को एक वाहन में चोरी की तार लोड करते हुए रंगे हाथों काबू किया। उनके पास से तार काटने के लिए उपयोग किए जाने वाले औजार व एक मोटरसाइकिल भी बरामद किया गया। उक्त व्यक्तियों ने पूछताछ में माना कि वह रेलवे विभाग की चोरी की तार को ब¨ठडा में संजीव कुमार नामक कबाड़ी के पास बेचते थे व उनकी निशानदेही पर आरपीएफ की टीम ने की छापामारी दौरान कबाड़ी को काबू करके उसके पास से चोरी की करीब साढ़े चार लाख की तार बरामद की गई। पुलिस ने उनके खिलाफ मामला दर्ज कर अगली कार्रवाई शुरू कर दी। इनकी पूछताछ में कई वारदातों पर से पर्दा उठने की उम्मीद है।

Indian T20 League

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप

kumbh-mela-2021

ਪੰਜਾਬੀ ਵਿਚ ਖ਼ਬਰਾਂ ਪੜ੍ਹਨ ਲਈ ਇੱਥੇ ਕਲਿੱਕ ਕਰੋ!