जेएनएन, भवानीगढ़। Corornavirus के संक्रमण से बचाव के लिए पंजाब में कर्फ्यू है, लेकिन इसके बावजूद कई जगह लोग घरों से बाहर निकल रहे हैं। वहीं, कोरोना वायरस के खतरे को भांपते हुए संगरूर जिले के गांव राजपुरा के लोगों ने दूसरे लोगों के लिए जागरूकता की मिसाल पेश की है। गांव की पंचायत ने फैसला किया है कि गांव में न कोई बाहर से व्यक्ति आएगा और न गांव के बाहर कोई जाएगा। गांव के सभी रास्ते पंचायत ने सील कर दिए हैं। पंचायत ही सभी घरों में साबुन, सैनिटाइजर, मास्क आदि बांट रही है।

राजपुरा यूथ विंग के प्रधान तललिंदर शेरगिल, मनप्रीत सिंह, राजिंदर बंटी, सोमा सिंह, सोनी सिंह व कुलदीप सिंह ने बताया कि महामारी से ग्रामीणों को बचाने के लिए यूथ विंग के वॉलंटियरों ने पंचायत के सहयोग से गांव को सील किया है। सार्वजनिक स्थलों व लोगों के घरों को सैनिटाइज किया जा रहा है।

वहीं, कर्फ्यू को सख्ती से लागू करने के उद्देश्य से गांव में दाखिल होने वाले रास्ते के साथ लगते फम्मणवाल लिंक रोड समेत बठिंडा-चंडीगढ़ हाईवे से जुड़े रास्तों को बैरीकेड्स लगाकर बंद कर दिया है। यहां पर दिन-रात नौजवान पहरा देंगे। अगर किसी व्यक्ति को कोई जरूरी काम है तो वह पंचायत को बताकर ही गांव से बाहर जा सकेगा। एंट्री रास्तों पर साबुन व सैनिटाइजर रखा गया है। गांव में मजदूरी करने वाले व्यक्तियों को अब गांव में ही खाना मुहैया करवाया जाएगा। इसके लिए यूथ क्लब लंगर का प्रबंध करेगा।

मिलकर लड़ेंगे, तभी जीतेंगे : सरपंच

सरपंच जोगिंदर सिंह ने कहा कि यूथ क्लब का यह कदम प्रशंसनीय है। पंचायत गांव के नौजवानों के साथ मिलकर इस कफ्र्यू को सफल बनाएगी, ताकि गांव इस महामारी से बचा रहे। गांव के जरूरतमंदों का भी ध्यान रखा जाएगा, ताकि वो परेशान न हों।

हरियाणा की ताजा खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें

पंजाब की ताजा खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें 

Posted By: Kamlesh Bhatt

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस

ਪੰਜਾਬੀ ਵਿਚ ਖ਼ਬਰਾਂ ਪੜ੍ਹਨ ਲਈ ਇੱਥੇ ਕਲਿੱਕ ਕਰੋ!