जागरण संवाददाता, संगरूर :

भारतीय किसान यूनियन एकता सिद्धूपुर व राष्ट्रीय किसान महासंघ द्वारा जिला प्रधान सुरजीत सिंह फतेहगढ़ भादसों की अगुआई में पीएम के नाम एक ज्ञापन डीसी घनश्याम थोरी को सौंपा। जिला महासचिव रण सिंह चट्ठा ने चिता जाहिर करते हुए कहा कि भारत सरकार द्वारा खेतीबाड़ी व्यापक आर्थिक समझौते (आरसीईपी) पर हस्ताक्षर करने के लिए तैयार है। इस समझौते से चीन, न्यूजीलैंड, जापान, आस्ट्रेलिया, कोरिया आदि देशों से खेती व दूध उत्पाद बिना आयात टैक्स के भारत आएंगे, जिससे भारतीय किसान व दूध उत्पादक बुरी तरह प्रभावित होंगे। यह समझौता देश के किसानों को बुरी तरह प्रभावित करेगा, क्योंकि विदेशों में भारत के मुकाबले किसानों को सब्सिडी अधिक दी जाती है। उन्होंने कहा कि जब तक केंद्र सरकार व राज्य सरकार पराली का कोई पुख्ता प्रबंध नहीं कर लेती, तब तक किसानों को पराली जलाने से न रोका जाए, यदि किसानों के खिलाफ कोई कार्रवाई की गई तो तीखा संघर्ष किया जाएगा। जिला वित्तीय सचिव कश्मीर सिंह, भवानीगढ़ ब्लॉक के प्रधान करनैल सिंह काकड़ा, सुनाम ब्लॉक के प्रधान हरी सिंह चट्ठा, तारा सिंह, राजिदर सिंह, कर्म सिंह, मोहन लाल, भान सिंह, हरदियाल सिंह, साधा सिंह, गुरचरण सिंह, चरणजीत सिंह, जरनैल सिंह, शेरा सिंह आदि उपस्थित थे।

Posted By: Jagran

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप

ਪੰਜਾਬੀ ਵਿਚ ਖ਼ਬਰਾਂ ਪੜ੍ਹਨ ਲਈ ਇੱਥੇ ਕਲਿੱਕ ਕਰੋ!