संवाद सूत्र, भदौड़ : नगर कौंसिल भदौड़ द्वारा पिछले चार माह से सफाई सेवकों को वेतन नही दिए जाने से सफाई सेवक काम छोड़ कर हड़ताल पर बैठे है व शुक्रवार को उनकी हड़ताल 15वें दिन में प्रवेश कर गई व हड़ताल के चलते क्षेत्र में सफाई व्यवस्था पूरी तरह से धवस्त हो गई हैं। स्थानीय कन्या स्कूल की दीवार के साथ लगा कूड़े का ढेर बीमारियां को न्योता दे रहा है और बच्चों को गन्दगी और दुर्गंध में से परेशान होकर मुंह ढक कर निकलने के लिए मजबूर होना पड़ रहा है। क्षेत्र निवासियों सतीश कुमार, राजविन्दर ¨सह, बलविन्दर ¨सह, रोहित कुमार, पवन कुमार, चंद्र शेखर, दीपक मित्तल ने बताया कि कौंसिल के अधिकारियों को चाहिए कि वह सेवकों का वेतन जारी करें व उनकी अन्य मांग को मानकर लोगों को सुविधाएं दें।

सफाई सेवक यूनियन के प्रधान मोहन लाल, राज कुमार, जस्सू ¨सह, संजीव कुमार, गग्गी ¨सह, केशा आदि ने कहा कि पिछले चार महीनों से नगर कौंसिल की तरफ से वेतन नही दिए जा रहे ऐसे में उनका जीना कठिन हो गया हैं। उन्होंने कहा कि उनका पीएफ काफी टाइम से काटा जा रहा है परंतु खाते में जमा नही करवाया जा रहा इसी प्रकार सेवामुक्त हो चुके एक सफाई सेवक शाम लाल ने अपना दुख बताते कहा कि उसे पक्की सर्विस से सेवा मुक्त हुए को 5 महीने हो गए हैं परन्तु उसका बकाया नहीं मिला। उन्होंने कहा कि अगर कौंसिल ने जल्द ही उनकी मांगों को नही माना तो वह अपना संघर्ष तेज करेंगे।

--नगर कौंसिल की नव -नियुक्त प्रधान बीबी चरनजीत कौर औलख ने कहा कि उन्होंने दो दिन पहले ही अध्यक्ष का पदभार संभाला है जल्द ही सभी मांगे मान ली जाएगी।

इस मौके पर नगर कौंसिल भदौड़ के ईओ बरजिन्दर ¨सह ने कहा कि कमेटी के पास फंड की कमी है और पिछले कुछ समय से जीएसटी भी नहीं आ रहा। कौंसिल सेवकों को एक माह का वेतन देने के लिए तैयार है परंतु सेवक चार माह का वेतन एक साथ ही लेने पर अड़े हुए हैं। उन्होंने कहा कि जल्द ही सभी को वेतन दे दिया जाएगा।

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस

ਪੰਜਾਬੀ ਵਿਚ ਖ਼ਬਰਾਂ ਪੜ੍ਹਨ ਲਈ ਇੱਥੇ ਕਲਿੱਕ ਕਰੋ!