जागरण संवाददाता, संगरूर

संगरूर-धूरी रोड पर गांव लड्डा के समीप मौजूद टोल प्लाजा से धूरी के लोगों के लिए गांव लड्डा के बीच बनाई गई वैकल्पिक सड़क का मामला ठंडा पड़ता दिखाई नहीं दे रहा है। टोल प्लाजा कंपनी के साथ चल रहे अदालती केस की पेशी के लिए सोमवार को विधायक दलवीर सिंह गोल्डी संगरूर अदालत में पेशी पर पहुंचे। माननीय जज साहिब की छुट्टी होने के कारण पेशी नहीं हो पाई व अदालत की तरफ से 25 फरवरी को अगली तारीख मुकर्रर कर दी है।

पत्रकारों से बातचीत करते हुए दलवीर गोल्डी ने कहा कि वर्ष 2014 में धूरी-संगरूर मार्ग पर टोल प्लाजा लगाया था, जिस कारण धूरी इलाके के लोगों का आर्थिक शोषण आरंभ हो गया, क्योंकि धूरी सहित आसपास के लोगों को रोजमर्रा संगरूर आना-जाना पड़ता है। टोल फीस बार-बार अदा करना किसी के लिए आसान नहीं थी। लोगों की सुविधा की खातिर लड्डा गांव में से वैकल्पिक रोड बनाई गई थी, लेकिन टोल प्लाजा कंपनी ने इस रोड पर भी टोल वसूली के लिए टोल बाक्स लगाने का प्रयास किया था, जिसे उन्होंने हटवा दिया। इस मामले में टोल प्लाजा अथारिटी ने अदालत में केस किया है, जिसकी पेशी के लिए आज वह यहां पहुंचे थे। उक्त मसले में अब तक सात केस हो चुके हैं, जिनमें से छह केसों निपट चुके हैं, जबकि यह एक केस माननीय अदालत में विचाराधीन है।

विधायक गोल्डी ने कहा कि वैकल्पिक रोड की मदद से हर राहगीर की जेब से 80 रुपये प्रतिदिन बचाने में वह सफल हुए हैं। इस रोड से लोगों को काफी राहत मिल रही है। मुख्य रोड पर टोल प्लाजा लगाया गया है, लेकिन न तो सड़क को फोरलाइन किया गया है व न ही कोई अन्य सुविधा लोगों को प्रदान की गई है। वह लोगों के हक की खातिर लगातार लड़ते रहेंगे।

रविवार को धूरी में भगवंत मान द्वारा सत्ताधारियों के टोल प्लाजा में हिस्से संबंधी किए गए बयान पर टिप्पणी करते हुए गोल्डी ने कहा कि वह वर्ष 2014 से ही इस टोल प्लाजा के खिलाफ लोगों के लिए लड़ाई लड़ रहे हैं। भगवंत मान हवाई बयानबाजी करने में जुटे हैं। वह किसी भी समय विकास के मुद्दे पर बहस के लिए तैयार हैं और भगवंत मान को खुला चैलेंज करते हैं कि वह अपने आठ वर्ष के कार्यकाल में किए कोई पांच कार्य पेश करें व वह अपने पांच वर्ष में किए गए पांच कार्य पेश करते हैं। संगरूर बार एसोसिएशन को पांच लाख देने का एलान, सर्वसम्मति से चुनी पंचायतों को पांच-पांच लाख देने सहित अन्य एलान हैं जिन्हें भगवंत मान ने आज तक पूरा नहीं किया। हलका धूरी के लोग भगवंत मान को मुंह नहीं लगाएंगे।

Edited By: Jagran