संवाद सूत्र, महलकलां, बरनाला :

भारतीय किसान यूनियन (डकौंदा) की सूबा कमेटी ने 27 मई को पंजाब की 10 किसान संगठनों द्वारा कुल हिंद किसान संघर्ष तालमेल कमेटी के आहवान पर किए जाने वाले केंद्र सरकार खिलाफ रोष-प्रदर्शनों में बढ़-चढ़ कर शामिल होने का ऐलान किया है। यूनियन के सूबा सीनियर मीत प्रधान मनजीत सिंह धनेर, प्रेस सचिव बलवंत सिंह उप्पली व जिला प्रधान दर्शन सिंह उग्गोके द्वारा जिला सचिव गुरदेव सिंह मांगेवाल ने कहा कि धान की कीमत में 53 रुपये, मक्का की 90 प्रतिशत, नरमे की लगभग 200 प्रतिशत रुपये व बाकी सावन की फसल की में मामूली वृद्धि की खेती के कीमत पर लागत कमिशन द्वारा वृद्धि की सिफारिश यह करजई व कोरोना की पैदा हुआ समस्याओं के साथ जूझ रहे देश भर के किसानों के घावों पर नमक छिड़का गया है। भाकियू (डकौंदा) इसको रद्द करते हुए केंद्र सरकार से मांग की, कि स्वामीनाथन कमिशन की सिफारिश के अनुसार फसलों का भाव तय किए जाएं, फसली विभिन्नता वाली सभी फसलों का लाभदायक भाव निश्चित करके खरीद यकीनी बनाई जाएं, कोरोना-संकट की मार में आई किसानी के लिए विशेष आर्थिक पैकेज एलाना जाएं।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस

ਪੰਜਾਬੀ ਵਿਚ ਖ਼ਬਰਾਂ ਪੜ੍ਹਨ ਲਈ ਇੱਥੇ ਕਲਿੱਕ ਕਰੋ!