सुभाष शर्मा, भाखड़ा बांध (नंगल)

भाखड़ा बाध के लिए जरूरी पानी की आवक अभी तक सामान्य स्तर पर नहीं पहुंच पाई है। मौसम के विपरीत होने की वजह से आवक कम बनी हुई है। पिछले दिनों बर्फ का पिघलाव नहीं हो सका है वहीं अब हिमखंडों पर जरूरत के अनुसार बारिश भी शुरू नहीं हो सकी है। यही वजह है कि इस बार बाध का जलस्तर पिछले साल आज के दिन के जल स्तर 1581.29 फीट की तुलना में 81.16 फीट कम है। हालाकि डैम में पानी की आवक कुछ बढ़ी तो है लेकिन इसे नाकाफी कहा जा सकता है क्योंकि अभी तक जलस्तर केवल 1500.13 फीट तक ही बना हुआ है। यदि डैम के लिए जरूरी पानी की आवक में इजाफा नहीं हुआ तो निश्चित रूप से इसका असर विभिन्न प्रांतों को मिलने वाली बिजली व पानी की सप्लाई पर पड़ सकता है। इतिहास में ऐसा पहली बार है जब इन दिनों में आकर डैम में पानी की आवक कम बनी हुई है वहीं जलस्तर पर भी विगत दशकों की तुलना में आज के दिन 1500 फीट तक ही सिमटा हुआ है। बाध में पिछले 24 घटे के दौरान दर्ज आकड़ों के अनुसार आवक 26278 क्यूसेक दर्ज की गई है। डैम से विभिन्न प्रातों की माग के अनुसार 23046 क्यूसिक पानी छोड़ा गया है। बता दें कि पिछले साल आज के दिन पानी की आवक 43899 क्यूसेक थी जबकि उसमें से 30422 क्यूसिक पानी छोड़कर 214.03 लाख यूनिट बिजली का उत्पादन किया गया था। इस बार बिजली का उत्पादन भी कम पानी छोड़े जाने के चलते 129.97 लाख यूनिट हो पाया है। 24 घटे में जल स्तर में वृद्धि का ग्राफ पिछले साल आज के दिन 1.09 फीट था जबकि आज 0.58 फीट ही जलस्तर में इजाफा हुआ है। 10 जुलाई: 6 बजे कंट्रोल रूम में दर्ज भाखड़ा बांध के आंकड़े---

10-07-2018 10-07-2017

जल स्तर 1500.13 फीट 1581.29 फीट

पानी की आवक 26278 क्यूसिक 43899 क्यूसेक

आऊट फ्लो 23046 क्यूसिक 30422 क्यूसेक

ब्यास नदी से आवक 8335 क्यूसिक 8545 क्यूसेक

विद्युत उत्पादन 129.97 लाख यूनिट 214.03 लाख यूनिट

24 घंटे में जल स्तर

में वृद्धि 0.58 फीट 1.09 फीट

Posted By: Jagran