संवाद सूत्र, मोरिडा: शहर के वार्ड नंबर आठ की एक बुजुर्ग महिला से दो नौसरबाज डेढ़ तोले के सोने के गहने ठगकर फरार हो गए। पीड़ित महिला जरनैल कौर पत्नी गुरमेल सिंह ने बताया कि जब वह मोरिडा के सरकारी अस्पताल से दवाई लेने के लिए जा रही थी, तो एक सफेद रंग के कपड़े पहनकर रेलवे फाटक के पास साधू लिबास में खड़े व्यक्ति ने उससे भूरी वाले संतों का डेरा पूछा। उसने कहा कि भूरी वाले संतों का मोरिडा में कोई डेरा नहीं है। थोड़ी दूर आगे जा रहे मोटर साइकिल पर बैठी एक अन्य महिला ने पूछा कि बाबा आप को क्या पूछ रहे थे तो उसने उस महिला को सारी बात बता दी। मोटरसाइकिल पर बैठी महिला ने कहा कि बाबा जी बहुत पहुंचे हुए संत हैं। उनकी बात को अनसुना करते हुए वो खुद जब अस्पताल के गेट पर पहुंची, तो सफेद रंग के कपड़ों वाला व्यक्ति फिर से आ गया और कहने लगा कि तू बहुत दुखी लगती है। आज तेरे दुख खत्म देते हैं। उस समय वह महिला भी उसके पास आ गई और उसे माता शीतला के मंदिर के आगे बने बरामदे में ले गई। साधू के लिबास में व्यक्ति ने महिला से कानों में पहनी बालियां और अंगूठी उतारवा कर अरदास करके आभूषण वापस देने की बात कही। व्यक्ति ने गहनों को एक पेपर में लपेटकर सफेद रंग के रूमाल में बांध कर अरदास कर रुमाल उसे सौंप दिया और कहा कि उसने उसके लिए अरदास कर दी है। अब उसके सारे दुख दूर हो जाएंगे। उनके जाने के बाद जब उसने रुमाल खोल कर देखा, तो उसमें से पत्थर निकले। उसने इसकी शिकायत मोरिडा पुलिस को दी। वहीं मोरिडा के एसएचओ सुनील कुमार ने कहा कि मामले की बारीकी से पड़ताल की जा रही है। सीसीटीवी फुटेज भी मंगवाई गई है। आरोपित जल्द पकड़े जाएंगे।

Posted By: Jagran

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप

ਪੰਜਾਬੀ ਵਿਚ ਖ਼ਬਰਾਂ ਪੜ੍ਹਨ ਲਈ ਇੱਥੇ ਕਲਿੱਕ ਕਰੋ!