संवाद सहयोगी, आनंदपुर साहिब : पंथ की महान शख्सियत गुरमति संगीत अकादमी आनंदपुर साहिब के डायरेक्टर प्रोफेसर करतार सिंह की याद में एसजीपीसी व धर्म प्रचार कमेटी ने महान गुरमति समागम करवाया। रविवार सुबह श्री अखंड पाठ साहिब के भोग के उपरांत सचखंड श्री हरमदिर साहिब, श्री दरबार साहिब और तख्त श्री केसगढ़ साहिब के हजूरी रागी जत्थों ने शबद कीर्तन से संगत को निहाल किया। समागम में तख्त श्री केसगढ़ साहिब के जत्थेदार साहब ज्ञानी रघुबीर सिंह, एसजीपीसी के प्रधान एडवोकेट हरजिदर सिंह धामी, जूनियर उप प्रधान प्रिसिपल सुरिदर सिंह, एसजीपीसी मेंबर भाई अमरजीत सिंह चावला, डा. दिलजीत सिंह भिडर और अतिरिक्त सचिव परमजीत सिंह सरोआ द्वारा विशेष तौर पर हाजिरी भरी। उन्होंने गुरमति संगीत के प्रेमियों को संबोधित करते कहा कि प्रोफेसर करतार सिंह द्वारा गुरमति संगीत कला को प्रफुल्लित करने के लिए किए गए प्रयासों को पंथ हमेशा याद रखेगा। इस मौके पर एसजीपीसी के प्रधान एडवोकेट हरजिदर सिंह धामी ने बताया कि गुरमति संगीत अकादमी आनंदपुर साहिब का नाम प्रोफेसर करतार सिंह के नाम पर रखा जाएगा। इस दौरान प्रोफेसर के सुपुत्र एडवोकेट अमरजीत सिंह और गुरमति संगीत अकादमी अध्यापक सुखविदर सिंह को सम्मानित भी किया गया। इस मौके पर तख्त श्री केसगढ़ साहिब के हेडग्रंथी ज्ञानी जोगिदर सिंह, मैनेजर मलकीत सिंह, अतिरिक्त मैनेजर एडवोकेट हरदेव सिंह, श्री दरबार साहिब के रागी भाई हरपिदर सिंह, भाई भुपिदर सिंह, भाई जसपिदर सिंह, प्रिसिपल जसवीर सिंह, प्रिसिपल सतनाम सिंह, प्रिसिपल सुखपाल कौर वालिया, गुरविदर सिंह भुल्लर, हरजीत सिंह ढाडी, कमलजीत सिंह हैड गुरमति विभाग पंजाबी यूनिवर्सिटी, पटियाला, सुखविदर सिंह पूर्व हैड ग्रंथी, ज्ञानी फूला सिंह, पाखर सिंह भट्ठल, कुलदीप सिंह नंबरदार, भगत सिंह चनोली, हरदेव सिंह देबी, रजिदर सिंह राही, आत्मा सिंह घट्टीवाला, चीफ दविदर सिंह, बीबी कुलविदर कौर, सुखविदर सिंह गुरमति संगीत अकादमी उपस्थित थे।

Edited By: Jagran