संवाद सहयोगी, नूरपुरबेदी : नूरपुरबेदी ब्लॉक के गांव करतारपुर में पहाड़ का सीना छलनी कर फार्म हाउस का निर्माण करने में जुटे कुछ व्यक्तियों को रोकने पर उन्होंने गांव वासियों को धमकाया तथा उनके ऊपर थाने में शिकायत दर्ज कर दी। शिकायत दर्ज करवाने जब गांववासी पुलिस थाने में पहुंचे तो पुलिस द्वारा उनकी सुनवाई न करने पर भड़के गांववासियों ने पुलिस के विरुद्ध पुलिस स्टेशन में जमकर प्रदर्शन किया। पुलिस थाने में करतारपुर के वासियों सरपंच म¨हदरपाल, नंबरदार मनदीप ¨सह, चमन लाल भटिया, म¨हदरपाल भूंबला, ओम प्रकाश, ¨बदर आदि ने कहा कि गांव करतारपुर में रूपनगर से संबंधित एक व्यक्ति ने 169 कनाल 7 मरले जमीन खरीद रखी है। इस जमीन में अधिकतर पहाड़ तथा जंगली वनस्पति है। उन्होंने कहा की अदालत की ओर से कुदरती विरासत के साथ छेड़छाड़ तथा पहाड़ी क्षेत्र में बिना मंजूरी खनन करने पर प्रतिबंध लगाया गया है लेकिन करतारपुर में अदालत के आदेशों के विपरीत नेताओं की सरपरस्ती में पहाड़ों को समतल किया जा रहा है। गांववासियों ने बताया कि इस जंगल में बड़ी संख्या में जंगली जानवर भी हैं। यदि जंगलों की कटाई इसी प्रकार जारी रही तो जानवरों शहर का रुख करेंगे। झूठी शिकायत देकर धमकाया

उन्होंने बताया कि जब गांव के कुछ लोगों ने इन व्यक्तियों को पहाड़ों की खुदाई करने से रोका तो इन व्यक्तियों ने गांव के एक पंच लाल चंद पुत्र तेलू राम, भू¨पदर ¨सह सहित 20 के खिलाफ स्थानीय पुलिस थाने में झूठी शिकायत देकर धमकाया। परेशान किया जो बर्दाशत नहीं करेंगे

लोगों ने पुलिस को चेतावनी दी कि यदि गांववासियों को बिना कारण परेशान करने का प्रयास किया गया तो उसे किसी भी कीमत पर बर्दाशत नहीं किया जाएगा। फार्म हाउस का निर्माण न रोका गया तो संघर्ष का रास्ता अपनाया जाएगा। विभागों से मंजूरी के बाद करवाया जा रहा निर्माण

इस संबंधी पुलिस थाना नूरपुरबेदी के प्रभारी देसराज ने कहा कि यह व्यक्ति की निजी जमीन है तथा उसने संबंधित विभागों से मंजूरी लेने के बाद ही निर्माण करवाया जा रहा है। उन्होंने कहा कि यदि गांववासियों को लगता है कि अवैध खनन हो रहा है तो वे खनन विभाग के पास शिकायत करें। यदि वे कहते हैं कि यह गैर-कानूनी है तो वह उनके विरुद्ध मामला दर्ज करेंगे। उन्होंने कहा कि कुछ गांववासी जानबूझ कर उन्हें परेशान कर रहे हैं।

Posted By: Jagran