संवाद सहयोगी, नूरपुरबेदी : कांग्रेस पार्टी के रिवायती (टकसाली) धड़े तथा ढिल्लों ग्रुप में टिकटों को लेकर जारी घमासान थंमने का नाम नहीं ले रहा है। ब्लॉक समिति तथा जिला परिषद चुनावों के लिए टिकटों को लेकर रिवायती धड़े को नजरअंदाज करते हुए के ब¨रदर ढिल्लों के अनुसार टिकटें देने का ब्लॉक काग्रेंस कमेटी के अध्यक्ष देसराज सैनी ने जोरदार विरोध किया है। देसराज सैनी द्वारा आज अपने ब्लॉक नूरपुरबेदी काग्रेंस के अध्यक्ष पद से इस्तीफा हाईकमान को भेजकर इसकी पुष्टी मीडिया के समक्ष की है।

ब्लॉक काग्रेंस कमेटी के अध्यक्ष देसराज सैनी ने बताया कि कांग्रेस को जो कार्यकर्ता तथा नेता गत 10 वर्षों से अकाली-भाजपा सरकार से टक्कर लेते रहे हैं उन्हें मौजूदा टिकटें वितरित किए जाने दौरान नजरअंदाज किया गया है। जबकि हलका रूपनगर में पैराशूटी नेता ब¨रदर सिह ढिल्लों द्वारा ब्लॉक समिती तथा जिला परिषद उम्मीदवारों को जो सूची जारी की गई है। उसके सबंध में उनके साथ कोई विचार विमर्श तक नहीं किया गया। जबकि हाल ही में रूपनगर के कांग्रेस भवन में पार्टी बैठक के दौरान इंचार्ज हलका रूपनगर मंत्री साधू सिह धर्मसोत ने कहा था कि जिस किसी इच्छुक व्यक्ति ने काग्रेंस की टिकट लेनी चाहता है, वह ब्लॉक अध्यक्ष को आवेदन देगा। जिसके उपरांत उनके पास ब्लॉक समिति चुनावों के इच्छुक दस उम्मीदवारों ने तथा 2 जिला परिषद चुनावों के इच्छुक उम्मीदवारों ने आवेदन दिए थे। उन्होंने पूरे कायदे से सभी आवेदन जिला कांग्रेस अध्यक्ष को भेज दिए थे। लेकिन वे सभी आवेदन नजरअंदाज कर दिए गए हैं। ब्लॉक काग्रेंस कमेटी के अध्यक्ष देसराज सैनी ने कहा की पिछले विधानसभा चुनावों में भी इसी प्रकार बाहर के उम्मीदवार ब¨रदर ¨सह ढिल्लों को टिकट देने के बाद इतिहास में पहली बार कांग्रेस उम्मीदवार का परिणाम नूरपुरबेदी ब्लॉक में तीसरे स्थान पर गया था। उन्होंने कहा कि ब्लॉक कांग्रेस अपने आप में एक मजबूत संगठन है। लेकिन बाहर के उम्मीदवार होने के चलते लोगों ने आप के लोकल उम्मीदवार को प्राथमिकता दी थी। उन्होंने कहा कि टकसाली तथा मेहनती वर्कर्स को नजरअंदाज करने के गंभीर परिणाम मौजूदा चुनावों तथा लोकसभा चुनावों में भी देखने को मिलेंगे। तथ्य तोड़-मरोड़ कर पेश कर रहा फेसबुक नेता

ब्लॉक काग्रेंस कमेटी के अध्यक्ष देसराज सैनी ने कहा कि पिछले कुछ समय से देखा जा रहा है कि एक फेसबुक नेता बचकानी हरकतें करते हुए तथ्यों को तोड़-मरोड़ कर बिना सबूतों के आए दिन ऊल-जलूल बातें करते हुए लोगों की छवि धुमिल करने का प्रयास कर रहा है। जिसका बडा नुकसान मौजूदा ब्लॉक समिती तथा जिला परिषद चुनावों में देखने को मिलेगा।

Posted By: Jagran