संवाद सहयोगी, रूपनगर :रूपनगर में शिवसेना बाल ठाकरे की बैठक युवा प्रकोष्ठ पंजाब के उप प्रमुख सोनी गर्ग की अध्यक्षता में हुई। बैठक में शिवसेना बाल ठाकरे के प्रदेश उप प्रमुख अश्वनी शर्मा विशेष रूप से शामिल हुए जबकि इस बैठक में रूपनगर के अलावा मोहाली के वर्कर बड़ी संख्या में शामिल हुए। इस बैठक के आगाज करते हुए सोनी गर्ग द्वारा सबसे पहले मोहाली की वरिष्ठ एडवोकेट अमनप्रीत कौर को पार्टी में शामिल किया गया जबकि अश्वनी शर्मा ने उन्हें सिरोपा भेंट करते हुए सम्मानित किया। उन्होंने कहा कि आने वाले दिनों में एडवोकेट अमनप्रीत कौर को पार्टी हाईकमान की सहमति से बड़ा दायित्व सौंपा जाएगा।

सोनी गर्ग ने कहा कि वर्तमान पंजाब सरकार फिलहाल हर स्तर पर फेल साबित हो रही है। पंजाब को नशा मुक्त बनाने के प्रयास तो किए जा रहे हैं लेकिन जिस हिसाब सके पंजाब की युवा पीढ़ी नशों की दलदल में धंसी हुई है उसे इस दलदल से निकाल पाना काफी टेढ़ी खीर है जिसके लिए पूर्व सरकार भी बराबर की जिम्मेदार है। इस मौके उन्होंने सड़कों पर घूमती गायों का मुद्दा उठाते कहा कि जब सरकार हर चीज पर गौ-सेस ले रही है तो गौ-धन की संभाल करना भी सरकार का दायित्व बनता है। उन्होंने राज्य अंदर बढ़ती बेरोजगारी के साथ साथ बढ़ती अपराधिक घटनाओं पर भी ¨चता व्यक्त करते हुए इसे सरकार की नाकामी करार दिया।

इस मौके पर अश्वनी शर्मा ने राज्य में हिन्दुओं की हो रही अनदेखी व हिन्दुओं के साथ लंबे समय से किए जाने वाले सौतेले व्यवहार का मुद्दा उठाते हुए इसे समय-समय की सरकारों द्वारा हिन्दुओं के साथ किया गया धक्का करार दिया। आतंकवाद के दौर में पंजाब अंदर 35 हजार के लगभग निर्दोष हिन्दू मारे गए जिनके परिवारों को आज तक मुआवजा नहीं दिया गया है जबकि दूसरी तरफ दिल्ली दंगों में मारे गए सिखों के परिवारों को कई बार मुआवजा देने के साथ साथ उन्हें अन्य सुविधाएं भी प्रदान की जा चुकी हैं। उन्होंने कहा कि पीड़ित सिख परिवारों को मुआवजा दिए जाने का शिवसेना कतई विरोध नहीं करती लेकिन इस मामले में हिन्दुओं के साथ सौतेला व्यवहार किया जाना समय समय की सरकारों पर सवाल उठाने का कारण जरूर है व इसे सहन नहीं किया जाएगा। आज भी खालिस्तानी खुलेआम ब्यान देते हुए हिन्दुओं को निशाना बना रहे हैं, हिन्दु नेताओं की हत्या की जा रही है जोकि निराशाजनक है।

उन्होंने राज्य सरकार से मांग की कि आतंकवाद पीड़ित हिन्दू परिवारों को तथा शहीद हुए हिन्दू नेताओं के परिवारों को बिना देरी योग्य मुआवजा दिया जाए अन्यथा शिवसेना बाल ठाकरे को संघर्ष का रास्ता अपनाना पड़ेगा। इस मौके रूपनगर के शहरी अध्यक्ष प्रदीप शर्मा व निखिल ¨सह, मोहाली के विरेंद्र राणा, मनोज शर्मा, मोहित शर्मा तथा अमित शर्मा ने भी विचार रखे।

Posted By: Jagran