संवाद सहयोगी, रूपनगर : रूपनगर के महाराजा रणजीत ¨सह बाग में शनिवार को शिक्षा विभाग में कार्यरत मिड डे मील वर्करों की अहम बैठक ब्लॉक अध्यक्ष जस¨वदर कौर की अध्यक्षता में हुई। बैठक में मिड डे मील वर्करों की समस्याओं तथा मांगों के बारे में गंभीरता से विचार किया।

वक्ताओं ने कहा कि मिड डे मील वर्करों को मामूली वेतन देते हुए उनका आर्थिक व मानसिक शोषण किया जा रहा है जोकि किसी भी स्थिति में जायज नहीं है। वक्ताओं ने कहा कि वर्करों को नियमानुसार न्यूनतम मेहनताने केदायरे में लाना चाहिए अथवा हर वर्कर को डीसी रेट के अनुसार मेहनताना दिया जाना चाहिए। उन्होंने कहा कि सरकार को यह समझना चाहिए कि जो लोग 25 हजार से 50 हजार रुपये मासिक वेतन लेते हैं जब उनका गुजारा अच्छी तरह नहीं हो पाता है तो मामूली वेतन लेने वाली मिड डे मील वर्करों का गुजरा कैसे होता होगा। वक्ताओं ने मांग की कि वर्करों की सेवाओं को जारी रखते हुए उन्हें न्यूनतम मेहनताना के दायरे में लाया जाए तथा हर माह समय पर वेतन देना सुनिश्चित बनाया जाए। इसके अलावा उन्होंने मिड डे मील वर्करों को सरकारी योजनाओं का लाभ देने, वर्करों को रेगुलर कर्मचारियों की तरह छुट्टियों की सुविधा देने के अलावा रसोई गैस के सिलेंडर की पहुंच स्कूल परिसर में सुनिश्चित बनाने की मांग प्रमुखता के साथ उठाई।

मांगें न मानी तो किया जाएगा संघर्ष

वर्करों ने चेतावनी देते हुए कहा कि अगर उनकी मांगें मंजूर नहीं की गई तो आने वाले समय में संघर्ष किया जाएगा। यूनियन के प्रदेशाध्यक्ष करम चंद द्वारा मिड-डे-मील वर्करों के हित में किए जाने वाले कार्यों की सराहना करते हुए उनमें अपना विश्वास भी जताया।

बैठक में ये रहे मौजूद

इस मौके दर्जा चार कर्मचारी यूनियन इंटक के जिला चेयरमैन दलीप ¨सह सैनी सहित महासचिव शिव लाल पामा, सु¨रदर कौर, कुल¨वदर कौर, अमृतपाल कौर, मलकीयत कौर, बल¨जदर ¨सह, जसवीर कौर, नीना चोपड़ा, किरण शर्मा, सरोज रानी, रितू, म¨नदर कौर, हरदीप कौर, मनजीत कौर, सर्बजीत कौर, रू¨पदर कौर, बलबीर कौर, सुख¨जदर कौर, भु¨पदर कौर, रमा शर्मा, इंद्रानी देवी, परमजीत कौर आदि मुख्य रूप उपस्थित थे।

Posted By: Jagran