संवाद सहयोगी, रूपनगर : लोगों को नशे के खिलाफ जागरूक करने के लिए चलाए जा रहे अभियान के तहत सिविल सर्जन डॉ. ह¨रदर कौर के दिशा-निर्देशों पर स्वास्थ्य विभाग की टीम ने जागरुकता वैन सहित गांव बूरमाजरा का दौरा किया।

चमकौर साहिब के कम्युनिटी हेल्थ सेंटर के एसएमओ डॉ. अशोक कुमार के नेतृत्व में गांव पहुंची इस टीम ने लोगों को लाउड स्पीकर के माध्यम से एकत्रित करते हुए छापे गए जागरुकता वाले पर्चे बांटे। इस मौके पर डॉ. अशोक कुमार ने कहा कि जो लोग तंबाकू युक्त पदार्थों के अलावा अफीम, चरस, गांजा, हेरोइन, भुक्की, डोडे या चिट्टा का सेवन करते हैं वो अपने जीवन के साथ खिलवाड़ कर रहे हैं।

उन्होंने विभिन्न प्रकार के नशों के कारण होने वाले शारीरिक, मानसिक व आर्थिक नुकसान के बारे विस्तृत रूप से समझाते हुए लोगों से अपील की कि बच्चों को छोटी आयु से ही नशे से बचने बारे व बुरी संगत से दूर रहने बारे शिक्षित किया जाना चाहिए। इस मौके डॉ. ह¨रदर ¨सह सहित डॉ. कमलजीत कौर, सरपंच दलवीर ¨सह, नंबरदार सर्बजीत ¨सह, जस¨वदर ¨सह, पंच रजवंत कौर, उजागर ¨सह, गुरमीत ¨सह, जसवंत ¨सह आदि के अलावा आशा वर्कर तथा स्टाफ मेंबर मौजूद थे।

लोगों से मिशन को सफल बनाने की अपील

उन्होंने लोगों से अपील की कि हर किसी को मिशन तंदुरुस्त पंजाब का सपना पूरा करने में पूरा सहयोग देना चाहिए। इस मौके हर¨वदर ¨सह सैनी ने कहा कि नशा कई बीमारियों का कारण बनता है। उन्होंने यह अपील भी की कि अगर कोई नशा बेचता है तो उसकी सूचना पुलिस व प्रशासन को उपलब्ध करवाएं। नशा परिवार को भी ले डूबता है

उन्होंने बताया कि कोई भी नशा धीमे जहर की श्रेणी में आता है जिसके सेवन से समय से पहले मौत हो जाती है। नशा करने वाले का परिवार अलग से बर्बाद हो जाता है। उन्होंने लोगों से नशा त्यागने की। उन्होंने कहा कि नशा करने वालों से नफरत करने की बजाए उन्हें नशा मुक्ति केंद्र पहुंचाया जाए।

Posted By: Jagran