संवाद सूत्र, घनौली

पीएसईबी इंप्लाईज फैडरेशन एटक के गलत तथा कर्मचारी विरोधी फैसलों से परेशान हुए थर्मल प्लांट रूपनगर के कर्मचारी हरबंस ¨सह, हरमेश लाल, विजय कुमार, जो¨गदर कामत, दलीप राय, दीना राम, बल¨जदर ¨सह, राम ़गुलाम, भू¨पदर ¨सह, लच्छी राम, सीता राम, म¨हदर ¨सह, प्रीतम ¨सह ¨पटू, ओम प्रकाश, ज¨तदर ¨सह, राकेश कुमार, लख¨वदर ¨सह, गुरदेव ¨सह, उजागर ¨सह, सर्वण कुमार, जसवीर ¨सह मंगा, अवतार ¨सह, जसपाल ¨सह आदि सैकड़ों कर्मचारी इंप्लाईज फैडरेशन पीएसईबी के प्रदेश प्रधान हरमेश धीमान, थर्मल नेता रघूवीर ¨सह कंग, वेदप्रकाश द्विवेदी, सु¨रदरपाल ¨सह, कुलदीप ¨सह मिन्हास, बल¨वदर ¨सह, शेर बहादुर खड़का, राम संजीवन आदि की उपस्थिति में एटक जत्थेबंदी को अलविदा कहते हुए इंप्लाईज फैडरेशन पीएसईबी में शामिल हो गए। एटक जत्थेबंदी को छोड़ कर इंप्लाईज फैडरेशन पीएसईबी में

शामिल हुए इन थर्मल कर्मचारियों ने बताया कि 22 अगस्त को एटक जत्थेबंदी के साथ संबंधित बिजली एकता मंच तथा पावरकॉम मैनेजमेंट के बीच हुई बैठक में बिजली एकता मंच ने यह स्वीकर कर लिया कि 12 वर्ष का तुजुर्बा रखने वाले मैट्रिक पास वर्कचार्ज कर्मचारियों को तथा 15 वर्ष के तुजुर्बे वाले अंडर मैट्रिक वर्कचार्ज कर्मचारियों को रेगुलर कर दिया जाए। जबकि इससे पहले 10 वर्ष का तुजुर्बा रखने वाले वर्कचार्ज कर्मचारियों को रेगुलर कर दिया जाता था। बिजली एकता मंच के इस इस गलत तथा कर्मचारी विरोधी फैसले के कारण थर्मल प्लांट के समूह वर्कचार्ज कर्मचारियों में एटक जत्थेबंदी तथा बिजली एकता मंच के खिलाफ गहरा रोष पाया जा रहा है। जिसके कारण आज 100 के करीब कर्मचारी एटक जत्थेबंदी को अलविदा कहते हुए इंप्लाईज फेडरेशन पीएसईबी में शामिल हो गए हैं। उन्होंने कहा कि वे अपने अन्य साथियों को भी इंप्लाईज फेडरेशन पीएसईबी में शामिल होने के लिए प्रेरित करेंगे तथा जत्थेबंदी के हाथों को और भी मजबूत करेंगे। इस मौके जत्थेबंदी के प्रदेश प्रधान हरमेश ¨सह धीमान ने जत्थेबंदी में शामिल नए कर्मचारियों को भरोसा दिलाया कि वे वर्कचार्ज कर्मचारियों को प्राथमिकता के आधार पर रेगुलर

करवाएंगे।

Posted By: Jagran