संवाद सहयोगी, रूपनगर : पर्यावरण संरक्षण व पराली को आगे न लगाने का संदेश आम जन तक पहुंचाने के उद्देश्य से पंजाब कृषि विश्वविद्यालय लुधियाना के दिशा निर्देशों पर कृषि विज्ञान केंद्र रूपनगर के द्वारा साथ लगते गांव बेला में स्थित अमर शहीद बाबा अजीत ¨सह जुझार ¨सह मेमोरियल कॉलेज में विद्यार्थियों के पें¨टग व स्लोगन लिखने के मुकाबले करवाए गए जबकि इस मौके विद्यार्थियों के सहयोग से गांव अंदर जागरुकता रैली भी निकाली गई।

इस मौके बोलते गृह विज्ञान के सहायक प्रोफेसर डॉ. मनदीप शर्मा ने कहा कि विद्यार्थियों की सहायता से अधिक से अधिक किसानों व लोगों तक यह संदेश पहुंचाया जा सकता है कि फसल की पराली को आग लगाने की बजाए उसकी खेतों में ही बहाई करना लाभकारी है। उन्होंने बताया कि पराली को आग लगाने से वातावरण को बड़ी क्षति पहुंचती है जबकि जमीन की उपजाऊ क्षमता बुरी तरह से प्रभावित होती है। इस मौके कॉलेज की प्रोफेसर अंकुरदीप कौर ने भी पर्यावरण संरक्षण की जरूरत पर विस्तृत रूप से प्रकाश डाला। इस मौके करवाए गए मुकाबलों के विजेताओं को विशेष रूप से पुरस्कृत किया गया जबकि कृषि विज्ञान केंद्र के द्वारा विद्यार्थियों को बाकायदा रिफ्रेशमेंट भी दी गई। इसके बाद विद्यार्थियों के द्वारा गांव अंदर किसानों व आम लोगों को जागरूक करने के लिए जागरुकता रैली भी निकाली गई। इस प्रोग्राम को सफल बनाने में कालेज की प्रबंधकीय कमेटी तथा स्टाफ ने विशेष योगदान दिया।

Posted By: Jagran