जागरण संवाददाता, रूपनगर

पंजाब रोडवेज रूपनगर की समूह जत्थेबंदियों द्वारा सांझी एक्शन कमेटी के आह्वान पर दोपहर 12 बजे से लेकर 2 बजे तक बस अड्डा बंद किया गया। इस दौरान रोष रैली की गई तथा ट्रांसपोर्ट मंत्री पंजाब का पुतला फूंका गया तथा नारेबाजी की गई। इस दौरान वक्तों ने पंजाब सरकार की कर्मचारी विरोधी नीतियों की ¨नदा की गई तथा पिछले लंबे समय से लटकती आ रही जायज मांगों को तुरंत लागू करने की मांग की गई। इस रैली के दौरान पंजाब महासचिव कंडक्टर यूनियन के गुरदयाल ¨सह, एटक के महासचिव र¨जदर ¨सह, कर्मचारी यूनियन के सचिव बलदेव ¨सह, एटक के पंजाब संयुक्त सचिव तरलोचन ¨सह, इंटक के पंजाब सचिव जगजीत ¨सह तथा एटक के प्रधान बल¨वदर ¨सह ने कहा कि रोडवेज कर्मचारियों की जायज मांगो को सरकार गंभीरता से नहीं ले रही। इस मौके पाल ¨सह, गुरप्रीत ¨सह, परमजीत ¨सह, सरबजीत ¨सह, र¨वदर पाल ¨सह, जगजीत ¨सह आदि ने कहा कि यदि मांगों को जल्द नहीं माना गया तो 11 सितंबर को पंजाब के सभी डिपूओं में गेट रैलियां की जाएंगी तथा 13 सितंबर को जालंधर में राज्य स्तरीय रैली की जाएगी। ये हैं रोडवेज यूनियन की मांगें पंजाब रोडवेज में आउटसोर्स भर्ती पर पूर्ण पाबंदी लगाई जाए,। विभाग में काम कर रहे आउटसोर्स कर्मचारी, कांट्रेक्ट कर्मचारियों को रेगुलर किया जाए। कर्ज मुक्त बसों को पंजाब रोडवेज में स्टाफ सहित तुरंत शामिल किया जाए व बजट रख कर पंजाब रोडवेज में नई बसें शामिल की जाएं। इसके अलावा पंजाब- हरियाणा हाईकोर्ट का 20 दिसंबर 2016 का फैसला लागू किया जाए। इसके अलावा कई लंबति मांगों को भी पूरा किया जाए।

Posted By: Jagran