जागरण टीम, रूपनगर : बुधवार को नेहरू स्टेडियम में गणतंत्र दिवस पर प्रशासन द्वारा जिला स्तरीय कार्यक्रम करवाया गया। इसके अलावा नगर कौंसिल कार्यालय, सिविल अस्पताल, शिवसेना भवन सहित विभिन्न जगहों पर गणतंत्र दिवस धूमधाम से मनाया गया। नेहरू स्टेडियम में मंत्री संगत सिंह गिलजियां ने ध्वजारोहण किया। इसमें डीसी सोनाली गिरी, एसएसपी विवेकशील सोनी सहित अन्य अधिकारी शामिल हुृए। गिलजियां ने समागम के दौरान परेड में भाग लेने वाली टुकड़ियों का निरीक्षण किया।

गिलजियां ने कहा कि चाहे वर्ष 1947 में देश आजाद हो गया था लेकिन देश को सही मायने में गणराज्य बनाने के लिए अपने संविधान की जरूरत थी। इस विभिन्नताओं से भरे देश के लिए संविधान तैयार करने वाले महान कार्य में सबसे बड़ा योगदान भारत रत्न बाबा साहिब डा. भीम राम अंबेडकर ने दिया। इसके बाद वर्ष 1950 में 26 जनवरी वो महान दिन बना जब पूरे देश अंदर अपना संविधान लागू हो गया। हर देश वासी को 26 जनवरी के महान दिन पर गर्व होना चाहिए।

घर जाकर किया गया शहीदों के परिवारों को सम्मानित

डीसी सोनाली गिरी के अनुसार इस बारे ओमीक्रोन के बढ़ते खतरे को ध्यान में रखते हुए समारोह में किसी भी स्वतंत्रता सेनानी तथा शहीदों के परिवारों को आमंत्रित नहीं किया गया बल्कि हर स्वतंत्रता सेनानी तथा शहीद परिवारों को उनके घर में जाकर सम्मान दिया गया। इसके अलावा नेहरू स्टेडियम में भी आम लोगों को नहीं बुलाया गया तथा न ही कोई सांस्कृतिक कार्यक्रम किया गया जबकि समागम में मार्च पास्ट के लिए एवं सलामी देने के लिए भी मात्र पांच टुकड़ियों को ही शामिल किया गया। इस समागम के दौरान केवल जरूरतमंद महिलाओं को सिलाई मशीनें जरूर बांटी गई।

मुख्य अतिथि तथा डीसी द्वारा संयुक्त रूप से हवा में राष्ट्र ध्वज जैसे रंग वाले गुब्बारे छोड़ने के बाद डीएसपी रविदर पाल सिंह के मार्गदर्शन में तैयार करवाई गई परेड में शामिल टुकड़ियों ने आकर्षक मार्च पास्ट करते हुए सलामी दी। मार्च पास्ट में शामिल पंजाब पुलिस की टुकड़ी का नेतृत्व पलटून कमांडर एसआइ णबीर सिंह ने की। महिला पुलिस की टुकड़ी का नेतृत्व पलटून कमांडर एसआइ स्वाति धीमान ने की। पंजाब होमगार्ड की टुकड़ी का नेतृत्व पीएचजी रघुबीर सिंह ने जबकि एनसीसी अकेडमी की टुकड़ी का नेतृत्व सीनियर अंडर अफसर हरमीत सिंह ने किया। इसके अलावा बैंड मास्टर मनप्रीत सिंह के निर्देशन में तैयार एवं जतिन वर्मा के नेतृत्व में शिवालिक पब्लिक स्कूल के विद्यार्थियों ने बैंड के साथ भाग लिया। रूपनगर की नगर कौंसिल परिसर में आयोजित समागम के दौरान नगर कौंसिल के अध्यक्ष संजय वर्मा बेले वालों ने ध्वजारोहण किया। इस आयोजन में नगर कौंसिल के वरिष्ठ उपाध्यक्ष राजेश कुमार सहित उपाध्यक्ष पूनम कक्कड़, अमरजीत सिंह जौली, मोहित शर्मा, चरणजीत सिंह चन्नी, गुरमीत रिकू, सर्बजीत सिंह सैनी, जसविदर कौर, जसपिदर कौर, नीरू गुप्ता, कुलविदर कौर, रेखा रानी, नीलम (सभी पार्षद) के अलावा व्यापार मंडल अध्यक्ष पलविदरपाल सिंह बिटा, राजेश सहगल, परमिदर पिका, कार्यकारी अधिकारी भजन चंद, एमई कुलदीप अग्रवाल, एसओ अजय चौधरी, अकाउंटेंट वीनस कुमार, क्लर्क लखबीर सिंह, सुपरिटेंडेंट लखबीर सिंह, भरत वालिया, अमरजीत सिंह बिल्ला तथा मदन गुप्ता आदि हाजिर थे। सराहनीय सेवाओं के लिए इन्हें किया गया सम्मानित

गणतंत्र दिवस समागम के दौरान सराहनीय सेवाएं निभाने वाले कर्मचारियों व अधिकारियों को मुख्य अतिथि द्वारा विशेष रूप से सम्मानित किया गया। इनमें विरासत-ए-खालसा आनंदपुर साहिब तथा दास्तान-ए-शहादत चमकौर साहिब के कार्यकारी इंजीनियर भुपिदर सिंह के साथ साथ एसएमओ डा. तरसेम सिंह सहित डा. हरलीन कौर, डा. मोहित शर्मा व हैल्थ वर्कर गुरदीप सिंह को कोविड सेवाओं के लिए सम्मानित किया गया। इनके अलावा सोशल वर्कर सुरजन सिंह सहित खोज अफसर गुरविदर सिंह, आंगनवाड़ी हैल्पर अमरजीत कौर, आंगनवाड़ी वर्कर गुरजीत कौर, मोहिदर सिंह, प्रभजोत सिंह, जैसमीन कौर, अर्षदीप कौर, खुशी सैनी, चमन लाल, मनदीप कौर, बाल कृष्ण शर्मा, परमजीत कौर, सीनियर सिपाही शिवपाल व हरमीत सिंह, सिपाही कऱणवीर सिंह, सहायक थानेदार नरिदर सिंह, सिपाही मुख्तियार सिंह, सिपाही दविदर सिंह, सिपाही सुखजिदर सिंह, पीएचजी कृष्ण सिंह, विशाल गरगिया, बोट आपरेटर मदन चंद, डीसी पीए काका सिंह, बुध सिंह, हरविदर सिंह, गुरनाम सिंह, भुपिदर सिंह, रविदर सिंह, गुरवीर सिंह, प्रताप सिंह, सतपाल सिंह, सुपिदर सिंह, सुभाष सिंह, सागर, प्रकाश राए, सौरभ कुमार, रणधीर सिंह, प्रियंका, परमिदर सिंह, मुहम्मद असलम, प्रवीण कुमारी, हाकी खिलाड़ी परमवीर सिंह, हाकी खिलाड़ी प्रभजोत सिंह, हाकी खिलाड़ी सुरिदर सिंह, हाकी कोच जसपाल सिंह, हाकी कोच इंद्रजीत सिंह आदि को भी अपने अपने क्षेत्र में सराहनीय सेवाएं निभाने के लिए सम्मानित किया गया। इनके अलावा मार्च पास्ट में भाग लेने वाले डीएसपी रविदर पाल सिंह सहित एसआई रणवीर सिंह, एसआई स्वाति धीमान, पीएचजी रघुबीर सिंह, पलटून कमांडर हरमीत सिंह तथा बैंड टीम का नेतृत्व करने वाले जतिन वर्मा को भी सम्मानित किया गया।

Edited By: Jagran