सुभाष शर्मा, नंगल

निर्माणाधीन फोरलेन फ्लाईओवर के चलते डैम के टी-प्वाइंट से डायवर्ट किए गए नेशनल हाईवे के ट्रैफिक के कारण सड़कें जर्जर हो चुकी हैं। पिछले कई दिनों से मार्ग पर पड़े गहरे गड्ढे प्री मानसून की हुई वर्षा ने और ज्यादा गहरे कर दिए हैं। गड्ढे इस कदर गहरे हो चुके हैं कि डैम के कंकरीट स्लैब भी नजर आने लगे हैं। गड्ढों की वजह से ही यहां आकर रुक रहे वाहनों के कारण जाम की स्थिति पैदा हो जाती है।

गौर हो कि मात्र 15 फीट चौड़े रोड के ऊपर से ही नेशनल हाईवे का ट्रैफिक गुजरने के कारण हर समय बांध पर वाहनों की लंबी कतारें लगी रहती हैं। इन हालातों में आपातकालीन सेवाएं प्रभावित हो चुकी हैं, वहीं शहरवासी भी परेशान होते हैं। दोपहिया वाहन सवारों की परेशानी इन गड्ढों के कारण और ज्यादा बढ़ गई है। गौरतलब है कि गत दिवस हिमाचल की एक युवती ने भी 26 जून को डैम के टी-प्वाइंट मार्ग पर उस समय देखते ही देखते नहर में छलांग लगा दी थी, जब वहां जाम लगा हुआ था। ऐसे में फौरन राहत कार्य शुरू न हो पाने के कारण युवती की डूबने से मौत हो गई। एनएच के ट्रैफिक का पूरा लोड टी प्वाइंट पर

नंगल डैम के ऊपर से ही नार्दर्न रेलवे का ट्रैक निकलता है। ऐसे में रेल गाड़ियों के आने-जाने के समय यहां 24 घंटे में कम से कम 20 बार एक साथ दो फाटक बंद होते हैं। इन हालातों में लोग दशकों से ट्रैफिक जाम की परेशानी झेल रहे हैं। फोरलेन फ्लाईओवर के निर्माण के मद्देनजर नार्दर्न रेलवे का सी-88 फाटक बंद कर दिए जाने के बाद से डैम पर ट्रैफिक जाम की समस्या और ज्यादा बढ़ गई है। इस समय ट्रैफिक का पूरा लोड डैम के टी-प्वाइंट मार्ग पर है। शहर वासी चाहते हैं जल्द ठीक की जाएं गड्ढों भरी सड़कें शहर के समाज सेवकों उपेंद्र ठाकुर, जगतार सिंह सैनी, राम कुमार सहोड़, राकेश शर्मा पम्मी, प्रमोद पुरी, रविद्र ठाकुर ने कहा कि कि शहर के अंदर से डाइवर्ट हो चुके नेशनल हाईवे के ट्रैफिक के कारण लोग परेशान हैं। नंगल डैम पर पड़ चुके गड्ढे आवागमन में बाधा बन चुके हैं। शहर वासी पहले ही ट्रैफिक जाम के डर के कारण अपनी कारों जैसे वाहनों की बजाय दुपहिया वाहन प्रयोग कर रहे हैं। ऐसे में जर्जर हो चुकी सड़कों तथा डैम पर पड़े गड्ढे की वजह से दुपहिया वाहन चालकों की परेशानी और ज्यादा बढ़ गई है। मांग उठाई गई है कि बीबीएमबी प्रबंधन जल्द नंगल डैम पर पड़े गड्ढे तथा जलजमाव की परेशानी को हल करने के लिए गंभीरता दिखाए, अन्यथा यहां गड्ढों की वजह से किसी भी समय कोई बड़ा हादसा हो सकता है। जल्द भर दिए जाएंगे गड्ढे

नंगल डैम पर पड़ चुके गड्ढों को भरने की प्लानिग हो चुकी है। डैम के उप मंडल अधिकारी को अवगत कराया जा चुका है। मौसम ठीक होते ही गड्ढे भर दिए जाएंगे। अधिक ट्रैफिक के कारण यह कार्य रात के समय ही हो सकेगा। इसके अलावा डैम के आस-पास जलजमाव की समस्या का उचित तौर पर हल करने के लिए एसडीएम के ध्यान में यह बात लाई गई है कि यहां बीएंडआर को ड्रेन सिस्टम बनाने के लिए कहा जाना चाहिए।

इंजी. राजेश विशिष्ट

कार्यकारी अभियंता,

नंगल डैम डिविजन।

Edited By: Jagran