जागरण संवाददाता, रूपनगर

रूपनगर के गांव ठौणा की रहने वाली लड़की के परिवार वालों ने लड़की के ससुराल पक्ष पर लड़की तथा दोहती पर पेट्रोल डाल कर आग लगाकर मारने के आरोप लगाए हैं। गांव ठौणा में एकत्र हुए दर्जनों लोगों ने रोष प्रदर्शन करते हुए ससुराल परिवार के आरोपित सदस्यों को गिरफ्तार करने तथा पुलिस द्वारा सख्त कार्रवाई करने की मांग की है। लड़की के पिता सुख¨जदर ¨सह तथा माता मनजीत कौर निवासी ठौना ने बताया कि उसकी लड़की इंद्रजीत कौर का विवाह 23 सितंबर 2012 को गुरप्रीत ¨सह पुत्र जसवीर ¨सह निवासी शाहपुर (कुराली) के साथ हुआ था। गुरप्रीत ¨सह वन विभाग में कांट्रेक्ट पर काम करता है। उसके एक लड़की सिमनजोत कौर 5 साल की है। विवाह के कुछ माह बाद ही जवाई उनकी लड़की को पैसों की मांग को लेकर परेशान करने लगा। जिसके बाद उसका देवर, देवरानी, सास, ससुर भी उनकी लड़की को परेशान करने लगे। गुरप्रीत ¨सह समय समय पर उनसे पैसे ले जाता रहा। पहले तो उसे परेशान ही करते थे लेकिन कुछ समय से उनकी लड़की के साथ मारपीट भी करने लगे थे। जब वह इस संबंधी उनसे बात करने जाते तो गुरप्रीत का नाना उनको कहता था कि थोड़ा बहुत झगड़ा तो हर घर में होता है मै इसे समझा दूंगा आगे से ऐसा नहीं होगा। उन्होंने बताया कि 6 जुलाई को उनकी लड़की के ससुराल परिवार ने उनकी दोहती तथा लड़की को आग लगाकर जला दिया, जिसके बाद लड़की तथा दोहती को पीजीआइ चंडीगढ़ में दाखिल करवाने के बाद हमें जानकारी दी गई। जब वह पीजीआइ पहुंचे तो ससुराल पक्ष फरार हो गया। सोफे पर बांधकर लगाई गई आग मृतक इंद्रजीत कौर के भाई सिमरनजीत ¨सह तथा लखवीर ¨सह ने बताया कि हमें ससुराल परिवार ने मामला दर्ज होने के बाद बताया कि आपकी बहन ने खुद आग लगाई है। यदि उनकी बहन ने खुद आग लगाई होती तो घर में अकेला सोफा ही न जलता और सामान भी जल जाता। उन्होंने आरोप लगाया कि हमारी बहन तथा भांजी को सोफे पर बांधकर आग लगाई गई है। उन्होंने बताया कि कुराली पुलिस में मामला दर्ज होने के बाद ससुराल पक्ष के दो आरोपितों सास तथा देवर को पकड़ लिया है, लेकिन दो मुख्य आरोपित जिसमें लड़की का पति तथा ससुर शामिल हैं, अभी पकड़े नहीं गए हैं। उन्होंने पुलिस से मांग की है कि पति और ससुर को भी जल्द गिरफ्तार किया जाए। इस मामले की जानकारी मिलने के बाद ह्यूमन राइट मंच की ब्लाक प्रधान जसवंत कौर तथा आंगनवाड़ी यूनियन नेता अंजू बाला पीड़ित परिवार के घर पहुंची। उन्होंने कहा कि प्रशासन एक तरफ बेटी बचाओ, बेटी पढ़ओ का नारा दे रही है और समाज में इस तरह की घटनाएं भी हो रही हैं। पुलिस प्रशासन को आरोपितों को जल्दी गिरफ्तार करना चाहिए तथा कड़ी से कड़ी सजा दिलानी चाहिए। ताकि समाज में दहेज लोभियों को सबक मिल सके तथा बेटियां दहेज की बलि चढ़ने से बच सके। ससुर व पति की गिरफ्तारी के लिए छापामारी की जा रही है: दीपइंद्रजीत ¨सह कुराली के एसएचओ दीपइंद्रजीत ¨सह ने कहा कि मामले में चार लोगों जिनमें ससुर जसबीर ¨सह, सास द¨वदर कौर, पति गुरप्रीत ¨सह तथा देवर जग¨वदर ¨सह के खिलाफ आइपीसी की धारा 304ए के तहत केस दर्ज किया गया था। मामले में इंद्रजीत कौर की बेटी की मौत होने के बाद मामले में आइपीसी की धारा 302, 120 बी भी शामिल कर दी गई थी। मामले में सस व देवर गिरफ्तार कर लिए गए हैं। अदालत ने दोनों आरोपितों को जेल भेज दिया है। ससुर जसबीर ¨सह तथा गुरप्रीत ¨सह की गिरफ्तारी के लिए छापामारी की जा रही है।

By Jagran