संवाद सूत्र, चमकौर साहिब: मुख्यमंत्री चरणजीत सिंह चन्नी के ड्रीम प्रोजेक्ट में से दास्तान ए शहादत और शहर के सुंदरीकरण प्रोजेक्ट का उद्घाटन 19 नवंबर को पंजाब के राजपाल बनवारी लाल पुरोहित और मुख्यमंत्री ने किया था।

करीब छह करोड़ रुपये के करीब के सुंदरीकरण प्रोजेक्ट के तहत 56 लाख से यहां बनाए सार्वजनिक शौचालय उद्घाटन से दो महीने के बाद भी बंद हैं। उक्त प्रोजेक्ट पर्यटन विभाग पंजाब के अधीन था। शौचालयों को शहीदी जोड़ मेल दौरान तीन दिन खोला गया था, लेकिन उसके लगे गंदगी के ढेरों के बाद इन्हें बंद कर दिया गया है। इस पर पर्यटन विभाग के एक्सईएन बीएस चाना ने कहा कि इन शौचालयों की सुपुर्दगी के लिए नगर पंचायत को पत्र लिखा गया है, जिसका अभी तक कोई जवाब नहीं आया। अगर नगर पंचायत इन शौचालयों को अपने अधीन नहीं लेती है, तो पर्यटन विभाग इसको अपने अधीन लेकर यहां पक्के कर्मचारी तैनात कर देगा। वहीं लोगों कहना है कि

56 लाख से बने शौचालयों की सुविधा क्षेत्र निवासियों या बाहर से आने वाली संगत को न मिले, तो फिर यह रकम शहर के किसी अन्य विकास कार्य पर भी खर्च की जा सकती थी। उल्लेखनीय है कि शौचालयों के बाहर लगाई गई इंटरलाक टाइलें दूसरी बार दब चुकी हैं। पहले ठेकेदार ने इन्हें ठीक करवा दिया था, लेकिन अब यह टाइलों फिर से धंस गई हैं। वहीं मुख्य मंत्री चरणजीत सिंह चन्नी ने कहा कि यह शौचालय लोगों की सुविधा के लिए हैं। उन्होंने पर्यटन विभाग के एसडीओ को फोन कर तुरंत शौचालयों के दरवाजे खोलने और एक सफाई सेवक की ड्यूटी लगाने की हिदायत की।

Edited By: Jagran