संवाद सहयोगी, रूपनगर: रेलवे विभाग की ओर से संगत व आम लोगों की सुविधा के लिए चलाई गई दो तख्तों को रेलमार्ग से जोड़ने वाली इंटरसिटी एक्सप्रेस गाड़ी संख्या 14505 के हर दिन देरी से पहुंचने से गाड़ी में सफर करने वाले ही नहीं, बल्कि विभिन्न रेलवे स्टेशनों पर अपनों के इंतजार में खड़े रहने वाले भी काफी परेशान हैं। लोगों का कहना है कि रेलवे विभाग ने लोगों को उपलब्ध करवाई गई सुविधा को अब दुविधा में बदल कर रख दिया है। इसके खिलाफ रूपनगर रेलवे स्टेशन पर लोगों ने रेलवे विभाग के खिलाफ जमकर नारेबाजी की।

इस मौके राजेश शर्मा सहित अश्वनी कुमार, राजीव कुमार, कपिल देव, नरिदर सिंह, मोहन सिंह, अभिषेक चौहान, शेखर, हरीश कुमार, बलजीत सिंह, शेखर चड्ढा, एडवोकेट ताहिल, सुखजिदर सिंह, रिशी, श्याम सिंह, पल्लवी, रेखा रानी, कौशल्या देवी, राम कुमार व मनजीत सिंह आदि ने कहा कि आए दिन गाड़ी के लेट होने से यात्रियो और संगत को परेशान होना पड़ रहा है। रेलवे विभाग ने नंगल डैम से अमृतसर तक रोजाना चलाई गई इंटर सिटी एक्सप्रेस से धार्मिक यात्रा करने वाली संगत खुश है, वहीं नंगल डैम, आनंदपुर साहिब व कीरतपुर साहिब से रूपनगर, समराला, लुधियाना व जालंधर में स्थित विभिन्न विभागों व उद्योगों में काम करने वालों को भी बड़ी राहत मिल रही है, पर आए दिन गाड़ी के लेट होने से उन्हें परेशानी का सामना करना पड़ रहा है। नारेबाजी करने वाले लोगों ने कहा कि पिछले लगभग चार माह से शाम के वक्त अमृतसर से लौटने वाली गाड़ी संख्या 14505 अपने निर्धारित समय से रोजाना एक से डेढ़ घंटा देरी से आ रही है। हैरानी तो इस बात की है कि उक्त ट्रेन अमृतसर से सही वक्त दोपहर बाद दो बजकर पांच मिनट पर छूटती है, लेकिन गाड़ी को समराला में सवा पांच बचे पहुंचने पर रोजाना एक से डेढ़ घंटे के लिए रोक दिया जाता है, जिसके चलते यह गाड़ी हर दिन रूपनगर, आनंदपुर साहिब, कीरतपुर साहिब व नंगल डैम देरी से पहुंच रही है। डीआरएम अंबाला को भेजा था मांगपत्र, नहीं हुई कार्रवाई लोगों ने रोष जताते कहा कि इस मुद्दे को प्रमुखता से उठाते हुए उन्होंने पूर्व में डीआरएम अंबाला को मांगपत्र भी भेजा है , लेकिन आज तक कोई कार्रवाई नहीं हुई। लोगों ने चेतावनी दी कि अगर इंटर सिटी एक्सप्रेस के सिस्टम को सही नहीं किया गया, तो उन्हें मजबूरी में रेलवे के खिलाफ संघर्ष छेड़ना पड़ेगा, जिसके लिए रेलवे प्रबंधन ही जिम्मेदार होगा।

Posted By: Jagran

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप

ਪੰਜਾਬੀ ਵਿਚ ਖ਼ਬਰਾਂ ਪੜ੍ਹਨ ਲਈ ਇੱਥੇ ਕਲਿੱਕ ਕਰੋ!