संवाद सहयोगी, रूपनगर

गांव कटलीं स्थित सेंट कार्मल स्कूल में धरती दिवस को लेकर हरियाली लाओ धरती बचाओ विषय पर जारी विभिन्न प्रोग्राम सफलतापूर्व समाप्त हो गए। समापन के मौके स्कूल की विकास मैनेजर जया सैनी मुख्यअतिथि के रूप में पहुंची व पिछले एक सप्ताह से धरती दिवस पर आधारित विभिन्न प्रोग्राम में भाग लेने वाले विद्यार्थियों की जोरदार शब्दों में सराहना की। उन्होंने कहा कि हमारी धरती मानवीय लापरवाही के कारण आज विभिन्न खतरों का सामना कर रही है। उन्होंने कहा कि इन खतरों में सबसे बड़ा खतरा दूषित होता हमारा पर्यावरण है जबकि पानी के हमारे कुदरती स्त्रोत भी लगातार दूषित होते जा रहे हैं। उन्होंने कहा कि धरती के अस्तित्व को बचाने के लिए हमें अपने आसपास की सफाई पर ध्यान देते हुए हरियाली वाले क्षेत्रफल को बढ़ाना होगा जिसके लिए अधिक से अधिक पौधे रोपित करते हुए उनकी वृक्ष का रूप लेने तक संभाल करनी होगी जबकि कुदरती स्त्रोतों को भी संभालना होगा।

इस मौके स्कूल की प्रधानाचार्य ने बताया कि पिछले एक सप्ताह के दौरान पहली कक्षा से लेकर 12 वीं कक्षा तक के विद्यार्थियों के द्वारा विभिन्न किस्म के पौधे रोपित करते हुए उन्हें पालने का संकल्प लिया गया है। इसके अलावा छठी कक्षा से लेकर आठवीं तक के विद्यार्थियों के द्वारा पर्यावरण संरक्षण पर आधारित नुक्कड़ नाटक मंचित किए गए हैं जबकि पर्यावरण संरक्षण पर नौवीं व दसवीं के विद्यार्थियों के कविता मुकाबले व नौवीं से 12 वीं तक के विद्यार्थियों में स्लोगन लिखने के मुकाबले भी करवाए गए हैं। उन्होंने बताया कि इन मुकाबलों में पृथ्वी हाउस ने पहला स्थान, जल हाउस ने दूसरा स्थान व अग्नि हाउस ने तीसरा स्थान हासिल किया है। इस मौके लोगों के जागरूक करने के लिए रैली भी निकाली गई व व्यर्थ हो चुके पदार्थों को दोबारा प्रयोग में लाने बारे प्रशिक्षित भी किया गया। इस मौके विजेता रहने वालों को जहां पुरस्कृत किया वहीं किडर गार्टन के विद्यार्थियों ने अपनी पोषाक के माध्यम से हरियाली का संदेश दिया।

आज़ादी की 72वीं वर्षगाँठ पर भेजें देश भक्ति से जुड़ी कविता, शायरी, कहानी और जीतें फोन, डाउनलोड करें जागरण एप

Posted By: Jagran