जागरण संवाददाता, नंगल : केंद्रीय मजदूर शिक्षा बोर्ड चंडीगढ़ सेंटर की ओर से मंगलवार को नंगल उपमंडल के गांव मोजोवाल व छोटेवाल में ग्रामीण महिलाओं को उनके अधिकारों के प्रति जागरूक किया गया। दो दिवसीय शिविर में बोर्ड के क्षेत्रीय सलाहकार कमेटी के सदस्य कामरेड महंगा राम तथा कार्यकारी क्षेत्रीय डायरेक्टर जगदीप सिंह ने कैंप में ग्रामीण महिलाओं को जागरूक करते हुए बताया कि किस तरह से ग्रामीण इलाके को आत्मनिर्भर बनाया जा सकता है। प्रधानमंत्री मुद्रा योजना, सुकन्या योजना, ई-श्रम कार्ड, जनधन योजना, मनरेगा कानून 2005, राईट टू एजुकेशन, घरेलू हिसक कानून-2006, आरटीआइ-2005, परिवार की देखभाल, गांवों में वर्ष के दौरान 100 दिन रोजगार देने की गारंटी, आर्थिक असमानता, वेलफेयर योजना कानून 1996, भवन निर्माण मजदूरों की बेहतरी के लिए बने कानूनों आदि की जानकारी भी शिविर में दी गई है।

शिविर में भारत सरकार के श्रम मंत्रालय के अधीन संचालित कार्यक्रम में भाग लेने वालों को दलजीत सिंह, एटक के महासचिव करनैल सिंह, राजेंद्र कुमार, सरपंच हरपाल कौर, आंगनबाड़ी वर्कर बीबी पूनम देवी, रेनू बाला आदि ने भी बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ आदि कल्याणकारी योजनाओं पर आधारित अनुभवी विचारों से जागरूक किया।

Edited By: Jagran