संवाद सूत्र, कीरतपुर साहिब

रूपनगर-नंगल मार्ग पर खड़े भारी वाहनों के कारण रोजाना सड़क दुर्घटनाएं होने का अंदेशा बना रहता है। यही नहीं, इससे भी बड़ा खतरा वो वाहन हैं जिन्हें चालक सड़क पर सफेद पट्टी का ध्यान किए बगैर मेकेनिकों की दुकानों के आगे या सड़क किनारे खड़े कर देते हैं। मेकेनिकों को जान खतरे में डालकर इन वाहनों की रिपेयर करनी पड़ रही है। ऐसे में न सिर्फ राहगीर बल्कि मेकेनिक की जान भी खतरे में है। जब सड़क पर बनी सफेद पट्टी के मध्य वाहनों को खड़ा करके उनकी रिपेयर की जाती है, तब तीव्र गति से आ रहे वाहन खड़े वाहन के साथ टकरा सकते हैं, जिससे वाहन चालकों के अलावा रिपेयर कर रहे मेकेनिक तथा अन्य व्यक्ति हादसों का शिकार हो सकते हैं। इस समस्या को अगर गंभीरता से नहीं लिया गया तो इसके परिणाम बहुत खतरनाक हो सकते हैं। बेतरतीब पार्किंग बंद हो: पप्पू सीनियर अकाली नेता ते¨जदर ¨सह पप्पू ने कहा कि सड़क हादसों का मुख्य कारण सड़कों पर बेतरतीब ढंग से पार्किंग किए गए भारी वाहनों के कारण ही होता है। बेशक इससे लोगों का रोजगार जुड़ा हुआ है लेकिन रोजगार से पहले जान जरूरी है। सड़क पर खड़े वाहनों की रिपेयर करना गलत: बेदी दुकानदार मनोज बेदी ने कहा के सड़क के मध्य में भारी वाहनों को खड़ा करके उनको रिपेयर करना बहुत खतरे की बात है। लेकिन उसके साथ-साथ मकेनिक मार्केट सुरक्षित जगह पर शिफ्ट होनी चाहिए। वाहन पार्किंग में ही खड़े करने चाहिए: सचिन युवा सचिन कुमार ने कहा कि सड़क पर बेतरतीब ढंग से वाहनों को खड़ा करना मौत को गले लगाना है , इसलिए हमेशा उचित जगह पर वाहनों को पार्किंग करना चाहिए। सड़क के मध्य में खड़े भारी वाहनों से टकराकर अक्सर छोटे वाहन चालक खासकर दो पहिया वाहन चालक क्षतिग्रस्त हो जाते हैं।

Posted By: Jagran