जागरण संवाददाता, नंगल : पंजाब सरकार के आदेशों से मंगलवार को शामलात जमीन को कब्जा मुक्त करने के लिए माणकपुर गांव में कार्रवाई की गई। इस दौरान राजस्व विभाग के अधिकारियों के साथ पुलिस विभाग के अधिकारियों ने मौके पर पहुंचकर लोगों से आग्रह किया कि वे जमीनों पर कब्जा छोड़ दें। बीडीपीओ चंद सिंह ने बताया कि पंजाब सरकार के आदेश हैं कि पंचायती जमीनों पर हुए कब्जों को हटाया जाए, इसलिए सभी सहयोग दें। शांतिपूर्वक चली कार्रवाई के बाद बीडीपीओ ने बताया कि माणकपुर में अतिक्रमण वाली पंचायत की साढ़े आठ एकड़ जमीन में से मंगलवार को साढ़े चार एकड़ जमीन को कब्जा मुक्त करवाया गया है। बीडीपीओ ने बताया कि रिहायशी मकानों के मालिकों के खिलाफ कोई कार्रवाई नहीं की जाएगी। कुछ लोगों के कोर्ट केस चल रहे हैं, उनके दस्तावेज की जांच की गई है। इस मौके पर नंगल थाना प्रभारी दानिश वीर सिंह, तहसीलदार विकास शर्मा, कानूनगो सुरेंद्र सिंह, पटवारी मनजीत सिंह, ब्लाक पटवारी सतपाल आदि भी मौजूद थे। बड़े भू-माफिया पर होनी चाहिए कार्रवाई : किसान मोर्चा

अतिक्रमण हटाने के लिए चली कार्रवाई के समय मौके पर पहुंचे सयुक्त किसान मोर्चा के जिला प्रधान सुरजीत सिंह ढेर ने बताया कि पिछले दिनों पंजाब सरकार के ग्रामीण पंचायत मंत्री से बैठक की गई है जिसमें यह फैसला किया गया है कि 30 जून तक कोई कार्रवाई नहीं की जाएगी। किसानों व प्रशासन की संयुक्त कमेटी बनाकर अवैध कब्जों का पता लगाया जाएगा। उन्होंने मांग उठाई है कि पंजाब सरकार बड़े भू-माफिया की ओर से पंचायतों की जमीनों पर किए कब्जों के विरुद्ध कार्रवाई करे। चंडीगढ़, जीरकपुर आदि के आसपास बड़े पैमाने पर अरबों की जमीन पर बड़ी इमारतें खड़ी की जा चुकी हैं। इस बड़े भू-माफिया पर ही कार्रवाई की जानी चाहिए ना कि ऐसे छोटे किसानों पर जो जीवन यापन के लिए पूरी तरह से जमीनों के छोटे-छोटे टुकड़ों पर निर्भर हैं। उन्होंने आह्वान किया है कि सभी गरीब लोग सरकार की इस कार्रवाई को न्यायपूर्ण बनाने में एकजुटता दिखाएं, तभी कार्रवाई की आड़ में होने वाले अन्याय को रोका जा सकेगा।

Edited By: Jagran