संवाद सहयोगी, रूपनगर: रूपनगर में डीटीएफ की स्थानीय इकाई ने शिक्षकों की पुरानी भर्तियों को पूरा करने व नई भर्तियों का विज्ञापन जारी किए जाने की मांग के साथ साथ कच्चे शिक्षकों सहित नान टीचिग व कंप्यूटर फैकल्टी को पूरे वेतन स्केल के साथ पिुरानी पेंशन योजना लागू किए जाने की मांग को लेकर डीसी डा. प्रीति यादव को मुख्यमंत्री के नाम ज्ञापन सौंपा। इस मौके डीटीएफ के प्रतिनिधिमंडल ने कच्चे अध्यापकों, कंप्यूटर फैकल्टी, बेरोजगारों तथा एनपीएस के संघर्ष के साथ जुड़ते हुए हर स्तर पर पूरी हिमायत करने का एलान भी किया। डीटीएफ के प्रदेश महासचिव मुकेश कुमार तथा जिलाध्यक्ष ज्ञान चंद ने कहा कि शिक्षा विभाग में प्री-प्राइमरी सहित ईटीटी, मास्टर काडर, पीटीआइ, आर्ट एंड क्राफ्ट लेक्चरर तथा क्लर्कं के 35 हजार से अधिक पदों की भर्ती प्रक्रिया में है, जिसे जल्द से जल्द पूरी करते हुए नियुक्ति पत्र जारी करने की जरूरत है। इसके अलावा विभाग में खत्म किए गए पदों को बहाल कर दर्जा चार से लेकर प्रिसिपल तक के सारे खाली पड़े पदों के लिए विज्ञापन जारी किए जाएं । इसके अलावा ओवरेज हो चुके बेरोजगारों को आयु सीमा में छूट दी जाए। उन्होंने मांग की कि कच्चे शिक्षकों सहित शिक्षा वालंटियरों, प्रोवाइडरों, एनएसक्यूएफ, आइइआरटी तथा नान टीचिग स्टाफ को बिना शर्त रेगुलर किया जाए। इसके अलावा आदर्श स्कूल व मेरीटोरियस स्कूलों के स्टाफ को भी शिक्षा विभाग में रेगुलर किया जाए। उन्होंने 17 जुलाई 2020 से लागू केंद्रीय वेतन स्केल वाले फैसले को रद्द किए जाने की मांग भी उठाई। इस मौके उन्होंने कहा कि नौ जुलाई को पुरानी पेंशन प्राप्ति फ्रंट के नेतृत्व में संगरूर में जो राज्य स्तरीय कनवेंशन करते हुए वित्त मंत्री के निवास की तरफ मार्च निकालने का जो एलान किया गया है, उसमें भी बढ चढ़कर हिस्सा लिया जाएगा। इस मौके उनके साथ जिलाध्यक्ष अमरजीत सिंह सहित सतनाम सिंह, बलविदर सिंह तथा हंस राज भी हाजिर थे।

Edited By: Jagran