जागरण संवाददाता, रूपनगर

रूपनगर सीआइए स्टाफ वन की टीम ने नशे की बड़ी खेप के साथ शहर के एक युवा वकील को गिरफ्तार किया है। वकील की सफेद रंग की मर्सिडीज कार में से मेडिकल नशे की खेप पकड़ी गई है। कार में दो विभिन्न कंपनियों के नशे के लिए इस्तेमाल होने वाले 2965 इंजेक्शन समेत प्रॉक्सीवन तथा लोमोटिल दवा बड़ी मात्रा में बरामद किए हैं। आरोपित से सीआइए की टीम ने एक हजार इस्तेमाल लायक सी¨रज भी बरामद की हैं। डीएसपी (आर) गुर¨वदर ¨सह ने बताया कि आरोपित की पहचान इंद्रजीत ¨सह उर्फ बावा पुत्र रणजीत ¨सह निवासी ज्ञानी जैल ¨सह नगर रूपनगर के रूप में हुई है। आरोपित को सफेद रंग की मर्सिडीज कार (डीएल07सीसी-5105) रैलों मार्ग पर गोशाला के निकट नाकाबंदी के दौरान सीआइए की टीम ने काबू किया। आरोपित इंद्रजीत ¨सह से नाकाबंदी के दौरान सफेद मर्सिडीज में से एवल के 1500 इंजेक्शन, ब्यूपरनार्फिन के 1465 इंजेक्शन, लोमोटिल गोलियों के 588 पाउच, प्रोक्सीवन के 105 पत्ते बरामद किए गए हैं। आरोपित हरियाणा के अंबाला से नशे की सप्लाई मंगवाता था। उसने प्राथमिक जांच में पुलिस के पास कबूल किया है कि अंबाला के पास से वो सप्लाई मंगवाता था तथा सप्लायर अंबाला से चंडीगढ़ के बीच रास्ते में कहीं भी उसे सप्लाई दे जाता था। आरोपित की बाजू भी इंजेक्शन लगाने की वजह से बुरी तरह छलनी हो चुकी हैं। इससे पहले भी आरोपित को नशे के खेप के साथ पकड़ा जा चुका है। देहरादून से एलएलबी है आरोपित आरोपित इंद्रजीत ¨सह विवाहित है। देहरादून से वकालत करने वाले इंद्रजीत को नशे की लत लंबे समय से लगी हुई है। उस पर एक एनपीडीएस एक्ट का केस पहले भी दर्ज हुआ था। वकालत के बाद इंद्रजीत अदालत में प्रैक्टिस भी करता था, लेकिन बाद में छोड़ दी। उसके पिता पंजाब एंड ¨सध बैंक में कार्यरत थे।

अजय

Posted By: Jagran