जागरण संवाददाता, नंगल : शहर के मोहल्ला राम नगर वासियों की तरफ से लोक कल्याण के लिए श्रीमद्भागवत महापुराण कथा कार्यक्रम के दूसरे दिन उद्गार व्यक्त करते हुए शिव कुमार शास्त्री ने कहा कि श्रीमद्भागवत कथा कार्यक्रम का आयोजन प्राणी मात्र को धर्म मार्ग से जोड़ना है। उन्होंने कहा कि सभी प्राणी अपने जीवन में सम्मान की भावना के साथ बड़ों का आदर करते रहें। प्रभु की भक्ति का महत्व समझाते हुए उन्होंने बताया कि भक्ति से ही हम प्रभु का दिव्य आशीर्वाद प्राप्त कर सकते हैं। जीवन में प्रभु अपने भक्तों को कभी डगमगाने नहीं देते। समर्पण की भावना से जीवन यापन करने की प्रेरणा देते हुए उन्होंने कहा कि प्रभु सर्वशक्तिमान हैं। हमारे हर कार्य पर उनकी नजर लगातार बनी हुई है। इसलिए जीवन का हर कार्य प्रभु को साक्षी मानकर ही करें, जो लोग अपनी दिनचर्या प्रभु के समक्ष नतमस्तक होकर शुरू करते हैं, निश्चित रूप से उन पर प्रभु की अपार कृपा बनी रहती है। संगीतमय भजन से वातावरण को भक्तिमय बनाते हुए शिव शास्त्री ने यह भी बताया कि दूसरों का भला चाहने वाले लोग ही प्रभु कृपा का पात्र बन कर जीवन में महान बन सकते हैं। प्रभु की तरह महान बनने की दिशा में प्रयास जारी रखे जाने चाहिए। स्वार्थ पूर्ण भावना से दूर रह कर बिना छल कपट से त्याग को भावना से जीवन बिताना चाहिए।

पांच जुलाई तक चलने वाले कार्यक्रम में शामिल श्री हरि संकीर्तन मंडली एवं आयोजन समिति की संतोष कुमारी, मधु शर्मा, सीता देवी, अमरजीत कौर, विजय बाला, रतन कौर, अमरजीत कौर, प्रेमलता जगोता, पूर्व पार्षद हरपाल सिंह भसीन, हरगुन सिंह, पवन कुमार पुरी, किशुक, हरविदर सिंह, मीरा, लक्ष्मी, पूजा, मीना नंदा, रविद्र कौर, मीना रानी, सुदेश रानी, गीता, रुचि, एकम आदि ने भी श्री कथा श्रवण करके लोक कल्याण की कामना की।

Edited By: Jagran