संवाद सहयोगी, नूरपुरबेदी : अपने परिवार के रोजी रोटी के लिए कुवैत गए और वहां जाकर कुवैत कफील के धोखे का शिकार हुए गांव हरीपुर का 32 वर्ष के नौजवान दर्शन सिंह अपने घर वापस पहुंच गया है। नौजवान का कुवैत की जेल में फंसे होने का जब परिवारिक सदस्यों की तरफ से आनंदपुर साहिब से सांसद मनीष तिवारी को मिली तो उन्होंने कोशिश शुरू की। वहीं, दूसरी तरफ कुवैत में शहीद भगत सिंह क्लब के प्रधान दलजीत सिंह के भी प्रयास कुवैत में जारी थे। दर्शन सिंह के अनुसार हलका आनंदपुर साहिब से सांसद मनीष तिवारी और कुवैत में दलजीत सिंह के प्रयासों के कारण वह दिवाली से पहले अपने घर अपने बच्चों के पास पहुंचा है। दर्शन सिंह वर्ष 2012 में कुवैत में ड्राइवर के तौर पर गया था। वीजा का समय कम रह जाने की पर 30 अप्रैल को उसने कुवैती कफील के साथ इस मामले के बारे में बात की गई उस कुवैती की तरफ से जल्द ही वीजा समय काल बढ़ाने का विश्वास दिलाया। दर्शन सिंह ने वहां पर अन्य स्थान से वीजा बढ़ाने का प्रयास किया मगर वह असफल रहा और अंत में उसने जब 25 जून को वापस इंडिया के लिए फ्लाइट पकड़नी थी। वहां पर पुलिस ने पकड़ लिया और जेल में बंद कर दिया। तिवारी का जताया आभार

घर वापस आने पर बात करते हुए दर्शन सिंह ने बताया कि उसकी रिहाई मनीष तिवारी की तरफ से उठाई गई। उसके परिजनों की आवाज को सरकार तक पहुंचाया। जिसके कारण आज वह वापस अपने घर पहुंचा है। दर्शन सिंह ने मनीष तिवारी का धन्यवाद किया। उन्होंने कहा कि अब वह यहां पर अपना कारोबार करेंगे और अपना घर चलाएंगे। मनीष तिवारी ने कहा कि हम और भी जो लोग कुवैत में जेल में कैद युवक का उन्हें भी हम जल्द उन्हें भी रिहा करा कर भारत मे उनके घर पहुंचाएंगे।

इंडियन टी20 लीग

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस

ਪੰਜਾਬੀ ਵਿਚ ਖ਼ਬਰਾਂ ਪੜ੍ਹਨ ਲਈ ਇੱਥੇ ਕਲਿੱਕ ਕਰੋ!