जागरण संवाददाता, रूपनगर: मौसम विभाग के अनुमानों को कुदरत ने मंगलवार मध्यरात्रि दरकिनार कर दिया। सोमवार से मौसम के बदलने का अनुमान मौसम विभाग ने लगाया था , लेकिन दो दिन से रूपनगर में खुलकर बारिश ही नहीं हो रही थी। बुधवार को भी एक दो बार बारिश होने का अनुमान मौसम विभाग का था, लेकिन इसके उलट। मंगलवार रात से ही रुक रुक कर रिमझिम फुहार ने मौसम को ठंडा ही नहीं कर दिया , बल्कि बुधवार दोपहर बाद तक भी बारिश होती रही। अनुमान के मुताबिक 40 एमएम बारिश जिले में हुई है। उधर बारिश ने शहर में पानी की निकासी की अव्यवस्था को भी उधेड़ दिया। इससे सरहिद नहर के साथ ाती चमकौर साहिब-दोराहा सड़क पर दरार पड़ने से एक गहरा गड्ढा पड़ गया है। इसी मार्ग पर तीन - चार सालों से बारिश के दौरान दरारें पड़ रही हैं। बाद में उनकी रिपेयर कर दी जाती है और हर साल नई जगह सड़क बैठ जाती है। इस बार गड्ढा चार फीट करीब चौड़ा है । ऐसे में चार पहिया व दोपहिया वाहन चालक इसमें गिर सकते हैं. इन कालोनियों के खाली प्लाट और सड़कें पानी से भरीं शहर में पानी का बहाव पूर्व से पश्चिम की तरफ है, इसलिए मल्होत्रा कालोनी, दशमेश कालोनी, लखविदरा एंक्लेव व हरगोबिद नगर के खाली प्लाटों में बारिश का पानी भर गया। इसके अलावा अली मोहल्ला में पानी की कोई निकासी न होने से मेन सड़क पर भी पानी जमा हो गया। शेखां मोहल्ला में घरों में घुसा पानी, नुकसान उधर मोहल्ला शेखां में कमलजीत सिंह के घर में बारिश का पानी घुस गया। उसके फर्नीचर और रसोई के सामान का नुकसान हुआ है। कमलजीत सिंह ने कहा कि यह पहली बार नहीं है, जब पानी घर में घुसा है। इससे पहले भी एक बार बैड खराब हो गए हैं। दरवाजों की प्लाई पहले भी ठीक करवाई थी। उन्होंने कहा कि पूर्व में लोगों ने कहा था कि कौंसिल सड़क ऊंचा करवाए, पर इस ओर कोई भी ध्यान नहीं दिया। अब इस कारण लोगों के घरों में पानी घुस रहा है।

Edited By: Jagran