जागरण संवाददाता, रूपनगर : शहर में इस बार 25 फीट ऊंचे रावण, मेघनाद और कुंभकर्ण के पुतलों का दहन किया जाएगा। इससे पहले रावण के पुतले 35 से 30 फीट के बीच बनाए जाते थे। इस बार भी सहारनपुर से पुतले बनाने वाला कारीगर शहनवाज शान अपनी टीम के साथ पहुंचा है। शान रूपनगर ही नहीं बल्कि आनंदपुर साहिब, अगमपुर के अलावा मोहाली जिले के कुराली, नवांशहर जिले में बलाचौर और हिमाचल की अल्ट्राटैक फैक्टरी में में दशहरे के लिए रावण तैयार कर रहा है। कुराली में शान ने 40 फीट का रावण और 30-30 फीट के मेघनाद और कुंभकर्ण के पुतले वीरवार को ही तैयार करके खड़े कर दिए हैं। रूपनगर के श्रीरामलीला मैदान में शुक्रवार को पुतले सुबह के समय तैयार करके खडे़ किए जाएंगे।

शान बताता है कि उनके लिए पुतले बनाने के लिए बांस अंबाला से लाना पड़ता है। इसलिए एडवांस आर्डर लेकर वो पुतले बनाने शुरू करते हैं। आनंदपुर साहिब और अगमपुर और बलाचौर में 25-25 फीट रावण के पुतले तैयार किए गए हैं। शान ने कहा कि महंगाई बढ़ने के साथ रावण तैयार करने के लिए कच्चा मटीरियल बांस, रदी और गुडुडी पेपर महंगे मिलते हैं। मगर रामलीला प्रबंधक रावण तैयार करने की कीमत ज्यादा देने को राजी नहीं होते। फिर भी हर साल वो रावण, कुंभकर्ण और मेघनाद के पुतले तैयार करने के लिए पंजाब के रूपनगर में आते हैं। ये जिदगी का हिस्सा बन गया है। वो बिना फायदा नुकसान देखे। हर साल पुतले बनाने के लिए चले आते हैं।

Edited By: Jagran