जागरण संवाददाता, रूपनगर : नगर कौंसिल की पांच साल के कार्यकाल में यह पहली बैठक रही होगी जिसमें अकाली दल के प्रधान परमजीत सिंह माक्कड़ के पक्ष के पांच पार्षद एक एक करके कुर्सी छोड़कर जमीन पर बैठे। सबसे पहले अकाली पार्षद मनजिदर सिंह धनोआ धरने पर जा बैठे और कार्यसाधक अधिकारी मुर्दाबाद के नारे लगाने लगे। धनोआ ने कहा कि वार्ड के कार्यों के टेंडर अलॉट किए जाएं। जब एसडीओ के पास जाओ तो वह ईओ के पास भेज देता है और ईओ एसडीओ के पास। इसके बाद जमीन पर बैठी अकाली पार्षद हरजीत कौर ने सीधे ही रूपनगर से विधानसभा चुनाव लड़े यूथ कांग्रेस के प्रदेश प्रधान बरिदर सिंह ढिल्लों द्वारा अफसरों पर दबाव डालकर काम रुकवाने का आरोप लगाया। धरने में बैठे अकाली पार्षद करनैल सिंह तंबड़, कुलवंत सिंह सैनी, आजाद पार्षद जसविदर कौर शैली ने भी रोष जताया। बैठक में आजाद पार्षद अमरजीत सिंह जौली और प्रधान परमजीत सिंह माक्कड़ के बीच खूब तू तू मैं मैं हुई। माक्कड़ ने कहा कि तुहाडे वार्ड दी कल्ली कल्ली गली मैं रिपेयर कराई आ, जौली बोले मेरे वार्ड दे तूं 80 लाख दे कम्म रोके होए वा। माक्कड़ ने कहा कि जदों सरकार बदल गई भट्ठा बैठ गया। मैं म्यूनिसिपल फंड दे नाल ढाई करोड़ दे काम कराए वा।

माक्कड़: पैसे दिए पर वाही ग्रुप प्रधान न बना पाए

वाही का जवाब, बता किसे दिए हैं पैसे

नगर कौंसिल की बैठक में बार बार प्रधान माक्कड़ ये कहते हुए उठते रहे कि सारे प्रस्ताव सर्वसम्मति से पारित हैं। लेकिन फिर वापस बैठ जाते। माक्कड़ ने कहा कि अफसर कांग्रेस के नेताओं से कंपकंपा रहे हैं और पंजाब भर की नगर कौंसिलों में इसी तरह काम रोके गए हैं। इस बीच पिछले कौंसिल चुनाव के बाद प्रधानगी की जोड़ तोड़ का मुद्दा भी उछला। माक्कड़ बोले कि पैसे भी खर्च लिए, लेकिन वाही ग्रुप प्रधान नहीं बना पाए। वाही ने कहा कि बता किसे दिए थे पैसे। प्रधान क्यों नहीं धरने में बैठते : पोमी

बैठक में कांग्रेस पार्षद पोमी सोनी भी खूब जमकर प्रधान का विरोध करते रहे। सोनी ने कहा कि प्रधान को शर्म आनी चाहिए जब उसके साथी पार्षद धरने पर बैठे हैं तो प्रधान क्यों नहीं बैठते। समझ नहीं आ रहा प्रधान कैबिनेट सदस्य या हाउस का : वाही

बैठक में कांग्रेस अशोक वाही ने कहा कि उन्हें आज ये ही समझ नहीं आ रहा कि प्रधान माक्कड़ कैबिनेट का सदस्य है या नगर कौंसिल हाउस का। पंजाब स्तर की बातें कर रहा है। इस पर माक्कड़ ने कहा कि वो कभी अपने वार्ड में गए हैं। वाही ने कहा कि उन्हें अपने वार्ड में जाने की क्या जरूरत है। आरोप बेबुनियाद : ईओ भजन चंद

बैठक खत्म करने से पहले ईओ भजन चंद ने बताया कि जो काम रुके हैं वो उच्चाधिकारियों के पत्रचार की वजह से बाधित हैं। अनाधिकृत कॉलोनियों में विकास कार्यो के बारे में उच्चाधिकारियों ने पूछा है। उन पर लगाए जा रहे आरोप बेबुनियाद हैं। अकाली पार्षदों ने कर दिया विरोध

फूल चक्कर मोहल्ले में पुरानी चुंगी की दुकान नंबर सात के किरायेदार सुरजीत सिंह को दुकान बेचने का प्रस्ताव पारित किया। इसका अकाली पार्षद बावा सिंह और हरविदर सिंह हवेली ने विरोध कर दिया। कांग्रेस पार्षद अशोक वाही, पोमी सोनी, गुरमीत सिंह रिकू भी विरोध में खड़े दिखे। बैठक में कहा कि किरायेदार कोर्ट केस वापस लेने जा रहा है इसलिए ये दुकान उसे ही सरकार की हिदायत के मुताबिक दे देनी चाहिए।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस

ਪੰਜਾਬੀ ਵਿਚ ਖ਼ਬਰਾਂ ਪੜ੍ਹਨ ਲਈ ਇੱਥੇ ਕਲਿੱਕ ਕਰੋ!