संवाद सहयोगी, रूपनगर : सिविल अस्पताल में स्थित जिला ट्रेनिग सेंटर में नेशनल प्रोग्राम फॉर प्रीवेंशन एंड कंट्रोल ऑफ कैंसर, शूगर, हृदय रोग व स्ट्रोक (एनपीसीडीसीएस) पर आधारित स्टाफ के लिए विशेष सेमिनार लगाया।

इसकी अध्यक्षता करते सिविल सर्जन डॉ. एचएन शर्मा ने सबसे पहले प्रोग्राम के तहत अब तक किए कार्यों की समीक्षा की। इसके बाद स्टाफ को कहा कि एनपीसीडीसीएस को दो भागों में बांटा है। पहले भाग में कैंसर को रखा है जबकि दूसरे में शूगर, हृदय रोग व स्ट्रोक हैं। उन्होंने समझाया कि विभिन्न स्तर पर इन दोनों भागों को इकट्ठा किया जाता है जिसके लिए जिला सहित कम्युनिटी हेल्थ सेंटरों व एसडीएच स्तर पर एनसीडी प्रकोष्ठ बनाए हैं। एनपीसीडीसीएस प्रोग्राम का मुख्य उद्देश्य गैर संचारी बीमारियों को रोकने के लिए व्यवहार व जीवनशैली में बदलाव लाना है।

वहीं जिला परिवार भलाई अफसर डॉ. रेणू भाटिया ने संबंधित स्टाफ के साथ रिपोर्टिंग प्रफार्मा विषय पर बात की व हिदायत दी कि प्रधानमंत्री सुरक्षित मातृत्व अभियान दौरान लगाए जाने वाले कैंपों में गर्भवती महिलाओं में एनसीडी बीमारियों की पहचान सुनिश्चित बनाई जाए। मौके पर डौली सिगला सहित सुखजीत कंबोज विशेष रूप से हाजिर थे।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस

ਪੰਜਾਬੀ ਵਿਚ ਖ਼ਬਰਾਂ ਪੜ੍ਹਨ ਲਈ ਇੱਥੇ ਕਲਿੱਕ ਕਰੋ!