संवाद सूत्र, चमकौर साहिब : अराईंवाड़ा की धर्मशाला में श्री गुरु रविदास जी का प्रकाशपर्व बड़ी श्रद्धा से मनाया गया। इस मौके पर सुखमणि साहिब के पाठ के भोग डाले गए। इसके बाद हजूर सिंह के जत्थे ने कीर्तन करते हुए संगत को निहाल किया। इस आयोजन में मोहल्ले की समूह संगत ने हाजिरी भरी। इसी तरह

गुरुद्वारा शिरोमणि शहीद बाबा संगत सिंह में गुरु रविदास मिशन सेवा सोसायटी ने गुरु रविदास जी का जन्म दिवस श्रद्धा से मनाया। गांव माणेमाजरा, मकड़ोना कलां, पिपलमाजरा, भुरड़े, लुठेड़ी, कतलौर, रुड़की हीरां, बरसालपुर, सलेमपुर, रौलूमाजरा, भोजेमाजरा आदि गांवों में भी भगत रविदास जी के जन्म दिवस को श्रद्धा से मनाया गया। इस संबंधी समूह गुरुद्वारा साहिब में श्री अखंड पाठ साहिब के भोग डालने के उपरांत सजे दीवान में रागी और ढाडी जत्थों ने संगत को बाणी से जोड़ा। एसजीपीसी ने ऐतिहासिक

गुरुद्वारा श्री कत्लगढ़ साहिब में श्री अखंड पाठ साहिब के भोग के बाद दलजीत सिंह और बलविदर सिंह हजूरी रागी के जत्थों ने संगत को बाणी से जोड़ा। इस मौके पर एसजीपीसी मेंबर परमजीत सिंह लक्खेवाल, मैनेजर भाई महिदर सिंह चौहानके, हेड ग्रंथी ज्ञानी मेजर सिंह, गुरइकबाल सिंह, नरिदर सिंह, मनजीत सिंह, कमलजीत सिंह, करमजीत सिंह से अलावा बड़ी संख्या में संगत ने हाजिरी भरी।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस

ਪੰਜਾਬੀ ਵਿਚ ਖ਼ਬਰਾਂ ਪੜ੍ਹਨ ਲਈ ਇੱਥੇ ਕਲਿੱਕ ਕਰੋ!