जागरण संवाददाता, नंगल: श्री गुरु रविदास जी का प्रकाश पर्व इलाके में विभिन्न जगहों पर अगाध श्रद्धा से मनाया गया। विभिन्न मंदिरों में सुबह से ही श्री गुरु जी के गुणगान के साथ ध्वज फहराए गए। भक्तजनों में प्रकाशोत्सव के प्रति श्रद्धा देखते ही बन रही थी। नंगल के श्री गुरु रविदास मंदिर पुराना गुरुद्वारा में विभिन्न कलाकारों ने गुरु जी की महिमा का गुणगान करके मानवता का मार्गदर्शन किया। इस दौरान आरडी सागर नवांशहर वालों ने प्रोग्राम पेश करके वातावरण को भक्तिमय बना दिया। इस अवसर पर भव्य जय घोषों के बीच पुष्प वर्षा करके निशान साहिब स्थापित किया गया। श्री गुरु रविदास धार्मिक सभा नंगल के अध्यक्ष सुरेंद्र पम्मा, महासचिव दौलत राम के अलावा कोषाध्यक्ष सुरेंद्र कुमार आदि ने विशेष रूप से उपस्थित हुए पंजाब विधानसभा के स्पीकर राणा केपी सिंह को सिरोपा व गुरु जी का चित्र देकर सम्मानित करते हुए उनका मंदिर पहुंचने पर अभिवादन किया। स्पीकर ने अपने संदेश में कहा कि हम सभी को गुरुओं के रास्तों पर चल कर मानवता की सेवा तथा भाईचारे को बनाए रखने में सहयोग देना चाहिए। उन्होंने बताया कि आज तो हालात अच्छे हैं, सभी को आजादी है। हर व्यक्ति अपनी आवाज बुलंद कर सकता है, लेकिन गुरु रविदास जी व बावा साहेब डॉ. बीआर आंबेडकर ने उस समय मानवता का मार्गदर्शन किया जब जुल्म व गुलामी चरम सीमा पर थी। इसलिए आज अच्छे हालातों को और बेहतर बनाने के लिए हर नागरिक को गुरु जी के बताए रास्तों पर चल कर समाज के लिए अनिवार्य योगदान देना चाहिए। उन्होंने मंदिर के अध्यक्ष सुरेंद्र सिंह पम्मा के प्रयासों की सराहना करते हुए कहा कि पहले की तरह भविष्य में भी वे मंदिर के कार्यो के बेहतर संचालन के लिए अपना योगदान जारी रखेंगे। कार्यक्रम में ब्लॉक कांग्रेस कमेटी नंगल के प्रधान संजय साहनी, अशोक कुमार स्वामीपुर, डॉ. रविंद्र दीवान, जिला परिषद की चीयरमैन कृष्णा बैंस, राकेश मेहता, सुरेश मलिक, विजय कौशल, तरसेम लाल मट्टू, टोनी सहगल, गुलजारा राम, मंदिर कमेटी के प्रतिनिधि सुरजीत सिंह व जेई सरदारी लाल ने भी शिकरत की। वहीं यश पाल, मनजीत कुमार, दर्शन सिंह लुढ़ण, इंजी. सुरेंद्र सिंह, परमिंदर संधु, आत्मा राम, बिकानू राम, बनारसी दास, सुखवंत भसीन, मंगत राम, शिंदर पाल, कुलदीप चंद, दलजीत संधु, शिव कुमार, सोहन लाल, देव राज, महेंद्र सिंह व कैप्टन संतोख सिंह आदि सहित बड़ी संख्या में एकत्र हुई संगत ने गुरु जी का गुणगान करते हुए लोक कल्याण की कामना की। मंदिर प्रांगण में लगाए गए अटूट लंगर का हजारों लोगों ने अमृतपान भी किया। कार्यक्रम के दौरान एतिहासिक गुरुद्वारा घाट साहिब के लोक सेवक जत्थे ने कारसेवा का योगदान देकर संगत की सेवा की।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस

ਪੰਜਾਬੀ ਵਿਚ ਖ਼ਬਰਾਂ ਪੜ੍ਹਨ ਲਈ ਇੱਥੇ ਕਲਿੱਕ ਕਰੋ!