जेएनएन, रूपनगर: स्वास्थ्य विभाग रूपनगर की ओर से गांव आलमपुर, सीएचसी लोदीमाजरा में मलेरिया जागरूकता कैंप लगाया गया। इस दौरान हेल्थ इंस्पेक्टर जगतार सिंह ने इक्कठे हुए लोगों को मलेरिया के कारण लक्षण और बचाव संबंधी जानकारी दी। उन्होंने कहा कि मलेरिया खड़े गंदे पानी में मादा मच्छर के काटने से फैलता है। यह मच्छर रात के समय काटता है। इसके लक्षणों में ठंड और कंपकपी के साथ तेज बुखार और सिर दर्द, बुखार उतरने के बाद थकावट और कमजोरी होना और शरीर को पसीना आना शामिल है। इसके बचाव के लिए घरों के आस-पास पानी इक्ट्ठा न होने दें और मिट्टी के साथ भर दें। तालाब में खड़े पानी में काले तेल का छिड़काव करें। कपड़े ऐसे पहनें कि शरीर पूरी तरह ढका रहे, ताकि मच्छर न काट सकें। सोते समय मच्छरदानी और मच्छर भगाने वाली क्रीम का इस्तेमाल करें। बुखार होने पर तुरंत नजदीक के स्वास्थ्य केंद्र या सरकारी अस्पताल के साथ संर्पक करें। मलेरिया का टेस्ट और ईलाज सब सरकारी अस्पताल में मुफ्त किया जाता है। इस दौरान ं परमजीत कौर, एएनएमसीएफ, सुरिदर कौर, एएनएमसीएफ, गुरदीप सिंह

वर्कर मौजूद थे।

Posted By: Jagran