संवाद सहयोगी, आनंदपुर साहिब

आनंदपुर साहिब के साथ लगते पड़ोसी राज्य हिमाचल प्रदेश में स्थित उत्तरी भारत के प्रसिद्ध शक्तिपीठ मंदिर माता श्री नयना देवी में दस दिवसीय श्रावण अष्टमी मेला खत्म होने के बाद भी संगत का आवागमन जारी है। 10 दिनों से जारी इस मेले के दौरान लगभग 5 लाख से अधिक श्रद्धालुओं ने आस्था के मंदिर में अपने तथा अपने परिवार के लिए सुख-शांति व समृद्धि के लिए माथा टेक चुके हैं। लेकिन पिछले साल के मुकाबले इस बार संगतों की तादात कम दर्ज की गई। पिछले साल नवरात्र मेले के मुकाबले इस बार दो लाख के आसपास कम संगत ने उपस्थिति दर्ज करवाई। मंदिर न्यास को श्रावण अष्टमी मेले के दौरान मुख्य गोलक से कुल 1,31,78,234 रुपये नकद तथा अन्य गोलकों से 24,95,569 रुपए नकद तथा कुल 1,56,73,803 नकद राशि सहित 454 ग्राम 960 मिलीग्राम सोना तथा 41 किलो 053 ग्राम 950 मिलीग्राम चांदी चढ़ावे के रूप में प्राप्त हुए। पिछले वर्ष मेले में न्यास को कुल 1,70,18,841 रुपए नकद तथा 518 ग्राम 700 मिलीग्राम सोना तथा 42 किलो चांदी चढ़ावे के रूप में प्राप्त हुई थी, जोकि इस बार मेले में 13,45,048 रुपये कम है। पिछले वर्ष मेले में लगभग 7 लाख यात्रियों ने दर्शन किए थे, जबकि इस बार लगभग 5 लाख से अधिक श्रद्धालुओं ने दर्शन किए। मेला सह-अधिकारी एवं न्यास अध्यक्ष अनिल चौहान ने कहा कि न्यास ने भारी भीड़ के चलते हर काम बाखूबी संभाला तथा सारे प्रबंध बेहतर रहे।

Posted By: Jagran