जागरण संवाददाता, रूपनगर : क‌र्फ्यू के 16 दिन बाद भी जिले में 10 से लेकर 15 फीसद लोग ऐसे हैं जिनके पास राशन नहीं पहुंच पा रहा। ये वो लोग हैं जो शहरों में या कस्बों में रहते हैं और उन तक प्रशासन की सर्वे टीमें नहीं पहुंच पाई हैं। जिले में अधिकतर गांव खुद आत्मनिर्भर हैं क्योंकि गांवों में गुरुद्वारा कमेटियों ने लंगर सेवा आरंभ की हुई है। शहरों व कस्बों में गुरुद्वारा प्रबंधक कमेटियों और समाजसेवी संस्थाओं और रेडक्रॉस द्वारा लंगर सेवा चलाई जा रही हैं। क‌र्फ्यू के शुरुआती दिनों में राशन समेत अन्य चीजों को लेकर एकदम आपाधापी मच गई थी, वो अब नहीं है, जो लोग अभी भी राशन वंचित हैं, वो अपने इलाके पूर्व पार्षद या

कोट्स

पक्का बाग की रहने वाली उर्मिला ने बताया कि उन्हें अभी तक राशन नहीं मिला। वार्ड पार्षद के पास गुहार लगाई है। फिर नगर कौंसिल और एसडीएम दफ्तर में फोन भी किए। कहा जा रहा है कि सर्वे टीम आएगी, उसके बाद आपको राशन मिलेगा। वार्ड पार्षद से कुछ राशन मांगकर समय निकाल रहे हैं।

कोट्स

पक्का बाग के ही रहने वाले बुजुर्ग करम सिंह ने कहा कि उन्हें भी राशन नहीं मिला है। वो सीनियर सिटीजन है। दिहाड़ी कर नहीं सकता। अब क‌र्फ्यू में किसके आगे हाथ फैलाएं। प्रशासन की टीम कोई नहीं आई है। कौंसिल ने शहर में 983 राशन के बैग डोर टू डोर बांटे

रूपनगर शहर में ही नगर कौंसिल के माध्यम से प्रशासन ने सात अप्रैल शाम तक 983 राशन के बैग जरूरतमंदों तक डोर टू डोर पहुंचा दिए हैं। ये क्रम बुधवार को भी जारी है। नगर कौंसिल के अंतर्गत 11 टीमें शहर के भीतर स्लम एरिया में सर्वे पर तैनात हैं और जरूरतमंद की पहचान करके उन्हें राशन पहुंचाया जा रहा है। उधर, अपनी रसोई के माध्यम से प्रशासन रोजाना दो हजार लोगों खाना शहर में जरूरतमंदों तक पहुंचा रहा है।

इन्होंने संभाला लोगों की सेवा का मोर्चा

. रूपनगर के गुरुद्वारा हेड दरबार की ओर से रोजाना 10 हजार लोगों क लिए लंगर तैयार करके वितरित किया जा रहा।

गांव शामपुरा के शेर ए पंजाब स्पोटर्स क्लब और ज्वाइंट क्रिकेट सोशल वेलफेयर क्लब अब तक 1500 लोगों को राशन मुहैया करवा चुका है।

सरबत दा भला ट्रस्ट रूपनगर इकाई ने 40 क्विटल आटा, 25 क्विटल चीनी, 8 क्विटल चावल व 7 क्विटल दाल प्रशासन को सौंपी है।

बाक्स

जल्द करेंगे डीसी के पास शिकायत: माक्कड़ नगर कौंसिल के पूर्व प्रधान परमजीत सिंह माक्कड़ ने कहा कि सत्तारूढ़ पार्टी के कुछ नेता सरकारी तंत्र का इस्तेमाल करके अपनी मर्जी से अपने समर्थकों तक राशन व भोजन पहले पहुंचा रहे हैं और कई वर्ग अनदेखे हो गए हैं। वो जल्द ही तथ्यों सहित डिप्टी कमिश्नर रूपनगर सोनाली गिरी के पास शिकायत करेंगे। माक्कड़ ने कहा कि उनकी तो सिर्फ एक ही मांग है कि पार्टीबाजी से ऊपर उठकर शहर के जरूरतमंदों तक राशन व लंगर मुहैया हो।

बाक्स

एसडीएम दफ्तर में संपर्क करें जरूरतमंद: डीसी सोनाली

डिप्टी कमिश्नर रूपनगर सोनाली गिरी ने जिले के लोगों से अपील की कि जो राशन प्रशासन या समाजसेवी संगठन बांट रहे हैं वो लोगों की क‌र्फ्यू के दौरान घर की रसोई चलाने के लिए है। एक ही व्यक्ति बार बार राशन न ले। जिससे कि असली जरूरतमंदों तक राशन व खाना पहुंचे। एसडीएम दफ्तर में जररूतमंद लोग फोन करके अपना ब्यौरा दें और उन्हें राशन मुहैया करवाया जाएगा। 37 रिलीफ सेंटरों में पहुंच रहा लंगर

बाहरी प्रदेश के रूपनगर से गुजर रहे लोगों को जिला प्रशासन रूपनगर में 37 विशेष रिलीफ सेंटरों में रखा गया है। इसमें रूपनगर के सरकारी कालेज के होस्टल में बनाए सेंटर भी इन लोगों को रखा गया है। इन लोगों को रोजाना खाना मुहैया करवाया जा रहा है।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस

ਪੰਜਾਬੀ ਵਿਚ ਖ਼ਬਰਾਂ ਪੜ੍ਹਨ ਲਈ ਇੱਥੇ ਕਲਿੱਕ ਕਰੋ!