संस, राजपुरा (पटियाला) : विश्व हृदय दिवस के उपलक्ष्य पर हृदय रोगों के बारे में जागरूकता बढ़ाने के लिए आर्यस ग्रुप ऑफ कॉलेज ने 'व‌र्ल्ड हार्ट डे' पर वेबिनार करवाया। डॉ. एचके बाली, चेयरमैन, कार्डियक साइंसेज, पारस हॉस्पिटल, पंचकूला (हरियाणा) ने आर्यस फार्मेसी कॉलेज के बी फार्मेसी और डी फार्मेसी के विद्यार्थियों और फैकल्टी के मेंबरों को टिप्स दिए। आर्यस इंस्टीट्यूट ऑफ नर्सिग के जीएनएम और एएनएम के विद्यार्थियों ने भी वेबिनार में भाग लिया। डॉ. अंशु कटारिया चेयरमैन आर्यस ग्रुप ने वेबिनार की अध्यक्षता की।

डॉ. बाली ने विद्यार्थियों से कहा कि सीवीडी हृदय और रक्त वाहिकाओं को प्रभावित करता है जो फेफड़ों, मस्तिष्क, गुर्दे और शरीर के अन्य हिस्सों में रक्त की आपूर्ति करते हैं और वैश्विक स्तर पर मृत्यु का सबसे बड़ा कारण हैं। उनमें कोरोनरी हृदय रोग, सेरेब्रोवास्कुलर रोग, आमवाती हृदय रोग और जन्मजात हृदय रोग जैसे रोग शामिल हैं। उन्होंने कहा कि ये बीमारियां जीवनशैली के विकल्प जैसे कि अस्वास्थ्यकर आहार, शारीरिक निष्क्रियता, तंबाकू का सेवन और शराब के अत्यधिक उपयोग से जुड़ी हैं और इसलिए कुछ हद तक इसकी रोकथाम की जा सकती है।

kumbh-mela-2021

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप

ਪੰਜਾਬੀ ਵਿਚ ਖ਼ਬਰਾਂ ਪੜ੍ਹਨ ਲਈ ਇੱਥੇ ਕਲਿੱਕ ਕਰੋ!