जेएनएन, पटियाला। पंजाब का एक अौर युवक विदेश में नौकरी की चाहत में ट्रेवल एजेंट की जाल में फंसकर अपनी जान गंवा बैठा। जिले के घमांड कस्बे के एमकॉम युवक रणदीप को लाख कोश्‍ािशों के बाद देश में नौकरी नहीं मिली तो वह ट्रेवल एजेंटों ने झांसे में आ गया। इन एजेंटों ने उसे स्‍पेन में नौकरी दिलाने की बात कही और उसे सर्बिया भेज दिया। वहां उसकी जान चली गई। रणदीप का शव सर्बिया की एक नदी में मिला। वह तीन महीने पहले घर से स्पेन जाने के लिए निकला था। पुलिस ने पटियाला के तीन और हरियाणा के एक ट्रेवल एजेंट के खिलाफ केस दर्ज किया है।

तीन महीने पहले गया था घर से, एजेंटों ने लिए एडवांस में लिए साढ़े पांच लाख

रणदीप कई प्रतियोगी परीक्षाएं दे चुका था। उसे नौकरी नहीं मिल रही थी। निराश होकर वह ट्रेवल एजेंटों के झांसे में आ गया। एजेंटों ने रणदीप को स्पेन भेजने के लिए उससे साढ़े पांच लाख रुपये एडवांस में ले लिए। करीब तीन महीने पहले वह स्पेन जाने के लिए घर से एजेंटों के साथ गया। एजेंट उसे सर्बिया ले गए। वहां उसे सड़क के रास्ते से स्पेन भेजने की योजना थी।

करीब एक महीने से परिवार की रणदीप से कोई बातचीत नहीं हो रही थी। अब इंटरपोल ने पुलिस को जानकारी दी है कि रणदीप का शव सर्बिया की नदी से मिला है। थाना जुल्कां में पटियाला के तीन ट्रैवल एजेंट गांव बासमा के हैप्पी और सुखदेव सिंह, घग्गा के दविंदर सिंह और हरियाणा के पानीपत के नवदीप सिंह के खिलाफ धोखाधड़ी व मानव तस्करी का केस दर्ज किया है। परिवार ने केंद्र सरकार से बेटे का शव भारत लाने की गुहार लगाई है।

एमकॉम पास था रणदीप

रणदीप एमकॉम पास था। परिवार के पास करीब 25 एकड़ जमीन भी है। चाचा कुलवंत सिंह के अनुसार रणदीप ने फोन पर बताया था कि एजेंट उसे सर्बिया से बोस्निया के रास्ते कार या बस से स्पेन भेजने की बात कर रहे हैं। उसके बाद उसका कोई फोन नहीं आया। परिवार ने ट्रेवल एजेंटों से पूछा तो उन्होंने कहा हो सकता है सर्बिया पुलिस के हाथ आ गया हो। एक या दो महीने में छूट जाएगा।

 

Posted By: Sunil Kumar Jha

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस

ਪੰਜਾਬੀ ਵਿਚ ਖ਼ਬਰਾਂ ਪੜ੍ਹਨ ਲਈ ਇੱਥੇ ਕਲਿੱਕ ਕਰੋ!